Top

पशुपालन से जुड़ी जानकारियों के लिए सबसे अच्छा माध्यम है गाँव कनेक्शन : डॉ. राहुल श्रीवास्तव

पशुपालन से जुड़ी जानकारियों के लिए सबसे अच्छा माध्यम है गाँव कनेक्शन : डॉ. राहुल श्रीवास्तवडॉ. राहुल श्रीवास्तव

सूचना क्रान्ति के इस युग में जब पक्षपाती, झूठ और भ्रामक तत्वों के बादल काफी गहरे हैं, गाँव कनेक्शन एक निश्छल किरण है जो कि भारत की आत्मा "ग्रामीण जनमानस " तक पहुंचती है। गाँव कनेक्शन के पांच वर्ष पूरे होने पर बधाई देते हुए डॉ. राहुल श्रीवास्तव (एम.वी.एस.सी(मेडिसिन) एमबीए (एग्री बिजनेस)।

विश्व में होने वाले बदलावों से हम अछूते नहीं है और ये बदलाव हमारे जीवन के हर पहलुओं पे अपना असर करते है। वैश्विक अर्थव्यवस्था और सूचनाक्रान्ति के इस दौर में भारत के युवाओं को आगे बढ़ने का मौका देता है तो एक खतरा भी पैदा करता है जहां झूंठ और पक्षपाती खबरों से युवा भ्रमित भी होता है। युवाओं का शहरों की ओर आकर्षण और पलायन भी इन्ही खबरों से होता है।

गाँव में संभावनाएं बताने का कोई ईमानदार प्रयास नहीं था और कुछ समाचार पत्रों में कभी साप्ताहिक या मासिक खबर आ जाती थी। उससे बुरा हाल तो न्यूज़ चैनलों ने किया है सिर्फ त्योहारों पे दूध में मिलावट के अलावा कोई न्यूज़ नहीं होती सालभर पशुधन के मामले में खासतौर पे जरूरी पत्रकारिता से पशुधन और पशु पालकों के उद्धार के लिए।

ये भी पढ़ें- जानिए कैसे आज वो भारत का सबसे बड़ा ग्रामीण मीडिया प्लेटफार्म है

ऐसे विपरीत परिस्थितियों में गाँव कनेक्शन के माध्यम से युवाओं और पशुपालकों को सही तरीके बताना, पशुधन के क्षेत्र में सफल उद्यमियों के अनुभवों को साझा करना और नई तकनीक से अवगत करने का प्रयास सराहनीय एवमं सुखद दूरगामी परिणामों को लाने वाला साबित होगा। युवाओं को तकनीकी पूरक रोजगार और वो भी गाँव मे मिलना भारत के भविष्य के लिए बहुत जरूरी है।

ये भी पढ़िए :- पढ़िए, आज तक के मैनेजिंग एडिटर सुप्रिय प्रसाद ने गांव कनेक्शन के 5 साल पूरे होने पर क्या कहा

आप अगर संकल्प कर लें तो पत्रकारिता में एक नई तरह की पत्रकारिता कर सकते हैं : राजदीप सरदेसाई

किसानों के लिए एक उम्मीद की तरह है गाँव कनेक्शन : वरुण गांधी

गाँव की तरक्की बिना देश की तरक्की संभव नहीं : मालिनी अवस्थी

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.