गांव कनेक्‍शन मेला: तस्‍वीरों से करें मेले की सैर

डिजिटल, प्रिंट्, वीडियो, आडियो कंटेन्ट, भारत की सबसे बड़ी मीडिया सर्वे टीम और जिलों, ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर स्मार्टफोन से लैस हमारे प्रतिनिधि गाँव कनेक्शन की उपस्थिति सुदूर गाँवों तक दर्ज़ कराते हैं।

Ranvijay SinghRanvijay Singh   2 Dec 2018 7:54 AM GMT

गांव कनेक्‍शन मेला: तस्‍वीरों से करें मेले की सैर

लखनऊ। आपका गांव कनेक्शन (Gaon Connection) दो दिसंबर 2018 को छह साल का हो गया। इस मौके पर लखनऊ जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर कुनौरा गांव में स्थित गांव कनेक्शन के हेडक्वाटर- 'भारतीय ग्रामीण विद्यालय' में मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में ग्रामीणों को उन्नत खेती, पशुपालन के साथ ही स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां और सुझाव दिए जा रहे हैं। इसके साथ ही युवाओं और छात्र-छात्राओं के लिए पढ़ाई लिखाई और रोजगार-नौकरी को लेकर विशेष सत्र भी किया जा रहा है। तस्‍वीरों में देखें मेले में क्‍या है खास...

गांव कनेक्‍शन मेले में कला कार्यशाला का भी लगाई गई है। गांव कनेक्‍शन मेले में कला कार्यशाला का भी लगाई गई है।


कला कार्यशाला में छोटे-छोटे बच्‍चों ने पेंटिंग बनाना सीखा। कला कार्यशाला में छोटे-छोटे बच्‍चों ने पेंटिंग बनाना सीखा।


मेले में खेल प्रतियोगिता भी हो रही है। क्रिकेट ग्राउंड में बनाते एक टीम के प्‍लेयर। मेले में खेल प्रतियोगिता भी हो रही है। क्रिकेट ग्राउंड में बनाते एक टीम के प्‍लेयर।


गांव कनेक्‍श मेले में पशु चिकित्‍सा शिविर भी लगाया गया है।  गांव कनेक्‍श मेले में पशु चिकित्‍सा शिविर भी लगाया गया है।


पशु चिकित्‍सा शिविर में आस-पास के गांव के लोग अपने पशुओं को लेकर पहुंच रहे हैं। पशु चिकित्‍सा शिविर में आस-पास के गांव के लोग अपने पशुओं को लेकर पहुंच रहे हैं।


गांव कनेक्शन की शुरुआत वर्ष 2012 में साप्ताहिक अख़बार के रुप में हुई थी, जिसके बाद वर्ष 2014 में हमने दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल डीडी नेशनल के साथ हमारा गांव कनेक्शन शो किया। गांव की बदलती कहानियों को दिखाने वाले इस शो के काफी लोकप्रियता बटोरी थी। टीवी पर दोबारा ये सफर देश के नंबर एक न्यूज चैनल आज तक के साथ आज तक का गांव कनेक्शन के रुप में टीवी पर लौटा। जबकि वर्ष 2018 में हमने डिजिटल मीडिया प्लेटफार्म क्विंट हिंदी और दी क्विंट के साथ विशेष सीरीज की।

डिजिटल, प्रिंट्, वीडियो, आडियो कंटेन्ट, भारत की सबसे बड़ी मीडिया सर्वे टीम और जिलों, ब्लॉक और ग्राम पंचायत स्तर पर स्मार्टफोन से लैस हमारे प्रतिनिधि गाँव कनेक्शन की उपस्थिति सुदूर गाँवों तक दर्ज़ कराते हैं। अगर इन सभी आयाम को एक साथ देखा जाए तो ग्रामीण भारत में पहुंच के हिसाब से देखा जाए तो गाँव कनेक्शन किसी भी मीडिया संस्थान से कहीं आगे है।

गांव कनेक्शन गांव के लोगों की आवाज़ शहर तक तो पहुंचाता ही है साथ ही शहर के लोगों को गांव के करीब लाने का, उनके रिश्ते को जोड़ने का भी काम करता है। हम भारत के ग्रामीणों तक उनके हित की सूचनाएं तो पहुंचाते हैं, साथ ही, गांव में आ रहे बदलाव की कहानियों से शहरी लोगों को रुबरू कराते हैं।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.