सरकार के पास आती है पंचायत की महिला जनप्रतिनिधियों के पतियों के हस्तक्षेप की शिकायत  

सरकार के पास आती है पंचायत की महिला जनप्रतिनिधियों के पतियों के हस्तक्षेप की शिकायत  महिला प्रधान के पति करते हैं हस्तक्षेप।

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने आज कहा कि पंचायत में महिला जनप्रतिनिधियों के कामकाज में उनके पतियों के अनावश्यक हस्तक्षेप के बारे में उसके पास आमतौर पर शिकायतें आती हैं और इस संदर्भ में उसकी ओर से कदम उठाए जाते हैं।

लोकसभा में भैरो प्रसाद मिश्रा के प्रश्न के लिखित उत्तर में पंचायती राज राज्य मंत्री पुरुषोत्तम रपाला ने कहा, पंचायत राज्य का विषय है और ऐसे में महिला जन प्रतिनिधियों के कामकाज में उनके पतियों के अनावश्यक हस्तक्षेप से संबंधित शिकायतें आमतौर पर राज्यों को भेजी जाती है। हालांकि कुछ ऐसी ही शिकायतें पंचायती राज मंत्रालय को भी प्राप्त हुई हैं।

ये भी पढ़ें: इस महिला प्रधान ने बदल दी अपने गाँव की तस्वीर

उन्होंने कहा, आम तौर पर ये शिकायतें आती हैं कि महिला जन प्रतिनिधियों के पति उनके अधिकारों का उपयोग करते हैं। जब कभी पंचायती राज मंत्रालय को इस तरह की शिकायतें मिलती हैं तो इन्हें संबंधित राज्य सरकारों के पास भेज दिया जाता है ताकि इनका निवारण हो सके। इसके साथ ही मंत्रालय ने राज्यों केंद्रशासित प्रदेशों को इस संदर्भ में परामर्श जारी किया है।

ये भी पढ़ें: देश की सबसे कम उम्र की युवा महिला प्रधान, जिसने बदल दी अपने गाँव की सूरत

ये भी पढ़ें: किचन से चौपाल तक महिला प्रधान का जलवा , देखिए माहेजबी की कहानी

ये भी पढ़ें: महिला प्रधान ने पति के साथ मिलकर बदल दी सरकारी स्कूल की सूरत

Share it
Top