राजस्थान की इस ग्राम पंचायत की है खुद की वेबसाइट, देश-विदेश कहीं से भी ले सकते हैं पूरी जानकारी 

राजस्थान की इस ग्राम पंचायत की है खुद की वेबसाइट, देश-विदेश कहीं से भी ले सकते हैं पूरी जानकारी 

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर पढ़िए राजस्थान के जयपुर के भैंसवाल ग्राम पंचायत के बारे में...

ग्राम पंचायत में किसी योजना की जानकारी लेने या कोई शिकायत करने के लिए ग्रामीणों को ग्राम प्रधान या सरपंच के घर के चक्कर लगाने पड़ते हैं, लेकिन लेकिन राजस्थान के जयपुर ज़िले के इस ग्राम पंचायत की बात ही कुछ अलग है। यहां की जानकारी लेने के लिए देश-विदेश में बैठे किसी को भी एक क्लिक करना होगा, सारी जानकारी उसके सामने होगी।

ये भी पढ़ें- देश का पहला जियोग्राफिकल इनफार्मेशन वाला गुलाबी गांव, जिसमें है शहरों जैसी सुविधाएं

राजस्थान के जयपुर ज़िले के कोटपुतली तहसील से करीब दस किमी. दूर भैंसलाना ग्राम पंचायत की अपनी खुद की वेबसाइट http://bhainslanasarpanch.com है, जहां पर गाँव की हर एक जानकारी दी गई है, जिसे कोई भी कहीं से जान सकता है। इस गाँव के सरपंच से गाँव का अपना सूचना व शिकायत पोर्टल बनाया है, जहां पर तुरंत कार्यवाही करके शिकायत का निवारण किया जाता है।

जब मेरी पत्नी सरपंच बनी तो मुझे लगा कि हमें कुछ ऐसा करना चाहिए, जिससे लोगों का काम आसान हो सके। लोगों को छोटी-छोटी जानकारी लेने के लिए सरपंच के पास न जाना पड़े।
अजय शुक्ल, पटवारी, भैंसवाला, जयपुर

ये भी पढ़ें- गुजरात का पुंसारी : देश के सारे गांव ऐसे हो जाएं तो खत्म हो जाएंगी आधी समस्याएं, शहरों में कम हो जाएगी भीड़

भैंसलाना की सरपंच विनोद देवी शुक्ल के पति अजय शुक्ल बताते हैं, "मैं कम्यूटर साफ्टवेयर का काम करता हूं, जब मेरी पत्नी सरपंच बनी तो मुझे लगा कि हमें कुछ ऐसा करना चाहिए, जिससे लोगों का काम आसान हो सके। लोगों को छोटी-छोटी जानकारी लेने के लिए सरपंच के पास न जाना पड़े।"

वो आगे बताते हैं, "तब मैंने अपने एक दोस्त से बात की वो भी आईटी के जानकार हैं, हमने वेबसाइट की शुरूआत की जिसमें सारी जानकारियां उपलब्ध हैं, ग्रामीण इसपर शिकायत भी कर सकते हैं।"

ग्राम पंचायत के सरपंच, पटवारी से लेकर सभी वार्ड पंचों की पूरी जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है। ग्राम सरपंच ने कितना काम कराया है इसकी भी पूरी जानकारी वेबसाइट पर है।

ये भी पढ़ें- “गाँव और शहर में रह गया है बस एक बारीक सा फ़र्क”

खेती-किसानी में करते हैं मदद

"हमसे पहले जितने भी सरपंच हुए वो किसी के निजी मामलों में नहीं फंसना चाहते थे इसलिए पंचायत में बहुत सी सड़कों का काम रुका हुआ था, हमने एक-एक लोगों से बात की गाँव में सबसे जरूरी काम सड़क निर्माण और पीने की पानी की व्यवस्था कराना होता है। हमने पूरे गाँव में लोगों से बात करके सड़क बनायी, जिससे लोगों को काम आसान हो सके, "अजय शुक्ल ने बताया।

काले पत्थर के लिए मशहूर है ये गाँव

ग्राम पंचायत के सरपंच, पटवारी, ग्राम सेवक से लेकर सभी वार्ड पंचों को मोबाइल नंबर व नाम वेबसाइट पर उपलब्ध है, जिससे कोई भी आसानी से इनसे संपर्क कर सकता है। केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी ट्वीट के जरिए गाँव के बारे में लोगों को बताया है।

ये भी पढ़ें- एक गांव ऐसा भी : मध्य प्रदेश के इस गाँव में कभी नहीं हुए चुनाव, शहरों जैसी हैं यहां सुविधाएं

हर घर तक पहुंची है सड़क

ये भी पढ़ें- क्या आपको ग्राम पंचायत और प्रधान के 20 काम पता है... अगर नहीं तो पढ़ लीजिए

भैंसलाना ग्राम पंचायत काले संगमरमर के पत्थरों के लिए मशहूर है, यहां के ज्यादातर लोग काले पत्थर का काम करते हैं। भैंसलाना ग्राम पंचायत पावटा पंचायत समिति की 29 पंचायतो में से एक है, जो की अपने आप में काले पत्थर के लिए विश्व प्रसिद्ध है, इस पंचायत में 3 राजस्व गाँव (भैंसलाना, सुजात नगर, बीठलोदा), और 22 राजस्व ढाणीयां सम्मिलित है। ग्राम पंचायत की कुल जनसंख्या 2011 की जनगणना के अनुसार 9065 है।

Share it
Share it
Share it
Top