Top

गुप्ता बंधु शाही शादी मामला: हाईकोर्ट के निर्देश के बाद 3 दिन में हटाया गया 240 क्विंटल कचरा

गुप्ता बंधु शाही शादी मामला: हाईकोर्ट के निर्देश के बाद 3 दिन में हटाया गया 240 क्विंटल कचरा

लखनऊ। औली में एनआरआई कारोबारी गुप्ता बंधुओं के बेटों के विवाह समारोह के तीन दिन बाद भी गंदगी हटाने का काम जारी है। इस हाई प्रोफाइल शादी समारोह के बाद औली से अब तक कई क्विंटल गंदगी और कूड़ा-करकट हटाया जा चुका है।

कूड़ा-करकट हटाने का काम जोशीमठ नगरपालिका परिषद द्वारा किया जा रहा है जिसके लिए उसने औली में दर्जनों पर्यावरण-मि‍त्रों को लगाया है। जोशीमठ नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष शैलेन्द्र पंवार ने गाँव कनेक्शन को बताया कि औली से अब तक 240 क्विंटल कूड़ा हटाया जा चुका है और उसे पहले जैसी स्थिति में लाने के लिए लगातार सफाई अभियान चलाया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि विवाह समारोह के कारण वहां फैली गंदगी को हटाने में अभी एक दो दिन और लग सकते हैं और अनुमानित 100 क्विंटल से ज्यादा कूड़ा करकट वहां और बिखरा हुआ है। उच्च न्यायालय के नि‍र्देशों तथा नगरपालिका परिषद द्वारा विवाह से पूर्व आयोजन के लिए दी गई अनापि‍त्त की शर्तों के अनुरूप गुप्ता बंधु इस आयोजन के कारण फैली गंदगी को हटाने के लिए परिषद द्वारा किए जा रहे खर्चे की भरपाई करेंगे।

इसे भी पढ़ें- Someone sh*t on the Himalayas: Billionaire baraatis have trashed Auli and left — with government permission



चर्चा में थी शादी...

शुरुआत में नौ लाख रुपये गुप्ता बंधुओं द्वारा इस कार्य के लिए दिए गए हैं। अंतिम भुगतान वे औली की पूरी सफाई के बाद करेंगे। 19 जून से 22 जून तक हुए बहुचर्चित विवाह समारोह में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, योग गुरू बाबा रामदेव, स्वामी चिदानन्द सरस्वती और बालीवुड व संगीत जगत के कई सितारों ने शिरकत की थी।

इस समारोह के कारण औली में पर्यावरणीय नुकसान को कम से कम रखने के लिये उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने चमोली के जिलाधिकारी को नि‍र्देशों के पालन करवाने तथा आठ जुलाई तक इसकी रिपोर्ट नैनीताल हाईकोर्ट में जमा करने के नि‍र्देश दिये थे।

इसे भी पढ़ें- कर्ज़ में डूबे किसान ने आत्महत्या से पहले बनाया वीडियो, सरकार पर उठाए कई सवाल


हेलीकाप्टरों की आवाजाही पर लगी थी रोक...

गौरतलब है कि बीती 19 और 22 जून को दक्षिण अफ्रीका के प्रख्यात उद्योगपति गुप्ता बंधुओं के पुत्रों की शादी औली में संपन्न हुई। औली में विवाह समारोह को लेकर विवाद भी हुआ और मामला हाईकोर्ट पहुंचा। हाईकोर्ट ने शादी-समारोह के लिए औली में हेलीकाप्टरों की आवाजाही पर रोक लगा दी और यहां होने वाले कूड़े की निगरानी के लिए प्रशासन को निर्देश दिए। इस पूरे मामले पर चमोली प्रशासन हाईकोर्ट को रिपोर्ट भी देगा।


कौन हैं गुप्‍ता बद्रर्स...

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुप्ता ब्रदर्स करीब 25 साल पहले सहारनपुर से बिजनेस अवसरों की तलाश में दक्षिण अफ्रीका गए थे। फिर उनका कारोबार वहां ऐसा फैला कि वो वहां के टॉप टेन धनी कारोबारी परिवारों में शुमार होने लगे। वैसे उन पर हमेशा जुमा और उनके कई मंत्रियों के नजदीकी होने और सियासी फायदे से कारोबार में आगे बढ़ाने के आरोप लगते रहे। दक्षिण अफ्रीका की नई सरकार अब उनके खिलाफ कई मामलों की जांच करा रही है। फिलहाल दक्षिण अफ्रीका का उनका कारोबार डगमगाया हुआ है। ये भी खबरें हैं कि वो वहां से अपना कारोबार समेटना चाहते हैं। (इनपुट भाषा)


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.