राम रहीम के छह सुरक्षा गार्डों और दो समर्थकों पर देशद्रोह का मुकदमा 

राम रहीम के छह सुरक्षा गार्डों और दो समर्थकों पर देशद्रोह का मुकदमा राम रहीम के छह सुरक्षा गार्डों और दो समर्थकों पर देशद्रोह को मुकदमा दर्ज ।

सिरसा। पंजाब-चंडीगढ़ हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार ने राजनीतिक फायदे के लिए हिंसा होने दी। हाईकोर्ट ने पूछा राम रहीम के साथ इतना बड़ा काफिला क्यों आने दिया गया।

सरकार बताए गुमराह करने वाले अफसर कौन हैं। हाईकोर्ट ने राम रहीम के छह सुरक्षा गार्डों और दो समर्थकों पर देशद्रोह को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। सिरसा में राम-रहीम के डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय पर भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात है। सुरक्षाबलों में स्थानीय पुलिस के साथ सेना के जवान और सीआरपीएफ की जवान मौजूद हैं। डेरा समर्थकों और सुरक्षाबलों में तनाव की खबरें सामने आ रही है। फिलहाल मिर्जापुर, उमरी गाँव सहित 36 डेरों को सील करने का काम जारी है। पंजाब और हरियाणा के हालात पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह एक बैठक कर रहे हैं। इस बैठक में एनएसए अजीत डोभाल और आईबी के चीफ भी मौजूद हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अुनसार हिंसा से नाराज केन्द्र खट्टर सरकार से इस्तीफा मांग सकता है।

सेना ने अनुयायियों से डेरा मुख्यालय से जाने की अपील की

सिरसा (भाषा)। सेना एवं अधिकारियों की अपील के बावजूद डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के नाराज अनुयायी आज भी डेरा मुख्यालय के परिसर में जमे हुए हैं। सेना एवं अधिकारियों ने डेरा अनुयायियों से यहां से जाने की अपील की है।

राम रहीम को बलात्कार का दोषी ठहराये जाने के बाद कल हुई हिंसा के बाद सेना ने पुलिस के साथ मिलकर डेरा सच्चा सौदा परिसरों के प्रवेश स्थानों पर अवरोधक लगाये थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने अपना नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि सेना अपने विकल्पों पर विचार कर रही है।

पुलिस ने बताया कि यहां कल रात से 15 डेरा अनुयायियों को गिरफ्तार किया गया है। हिसार के महानिरीक्षक (आईजी) ए एस डिल्लो ने कहा, “कानून को अपने हाथ में लेने वाले लोगों को बख्शा नहीं जायेगा। हम उनके खिलाफ सख्त कार्वाई करेंगे।” महिलाओं एवं बच्चों समेत करीब एक लाख लोग अब भी डेरा मुख्यालय में मौजूद हैं। सेना और जिला अधिकारी लाउडस्पीकरों से घोषणाएं कर रहे हैं और लोगों से परिसर छोड़ने की अपील कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: राम रहीम ही नहीं, इन बाबाओं पर भी लगे हैं गंभीर आरोप

सूत्रों ने बताया कि सेना को बीती रात विशाल डेरा परिसर का मानचित्र उपलब्ध कराया गया था। करीब 1,000 एकड़ में फैला परिसर अपने आप में एक बस्ती की तरह है जिसमें स्कूल, खेल गांव, अस्पताल और सिनेमा हॉल हैं।

बलात्कार मामले में राम रहीम के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत के फैसला सुनाने से पहले बडी तादाद में डेरा अनुयायी यहां और पंचकूला पहुंचे थे। पंचकूला में सीबीआई अदालत द्वारा वर्ष 2002 के मामले में कल राम रहीम को दोषी ठहराये जाने के बाद उग्र डेरा अनुयायी हिंसा पर उतारु

दोषी ठहराये जाने के बाद राम रहीम को रोहतक के सुनारिया जेल ले जाया गया। उस इलाके में केंद्रीय बलों को तैनात किया गया है। अधिकारियों ने आज बताया कि स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। नवंबर 2014 में हिसार में स्वयंभू बाबा रामपाल के अनुयायियों और पुलिस के बीच दो हफ्ते तक चले तनावपूर्ण गतिरोध के दौरान पांच महिलाओं और एक बच्चे की मौत हुई थी।

ये भी पढ़ें:15 साल पहले लिखी गई वो चिट्ठी जिसने ख़ुदा समझे जाने वाले राम रहीम को कठघरे में खड़ा कर दिया

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top