खबर का असर: गैंगरेप का आरोपी नईम गिरफ्तार, गाँव कनेक्शन ने उठाया था मामला

Neetu SinghNeetu Singh   17 July 2019 10:05 AM GMT

खबर का असर: गैंगरेप का आरोपी नईम गिरफ्तार, गाँव कनेक्शन ने उठाया था मामला

लखनऊ। एक नाबालिग दलित पीड़िता के साथ दो महीने पहले हुए गैंगरेप में आरोपी को हरदोई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गाँव कनेक्शन ने 16 जुलाई को प्रमुखता से इस खबर को उठाया था।

गाँव कनेक्शन को जांच अधिकारी (क्षेत्राधिकारी बघौली) अखिलेश राजन से फोन पर बताया कि "आरोपी नईम गिरफ्तार हो चुका है।" इसके आगे व्यस्तता के चलते उन्होंने ज्यादा जानकारी देने से मना कर दिया।

आरोपी के गिरफ्तारी की खबर सुनकर पीड़ित परिवार को उम्मीद है कि अब उन्हें न्याय जरुर मिलेगा। पीड़िता ने गाँव कनेक्शन को फोन पर बताया, " आरोपी की गिरफ्तारी से हम बहुत खुश हैं। ऐसे लोगों को तो जेल जाना ही था। अगर किसी भी लड़की के साथ इस तरह की घटना हो तो वो हिम्मत न हारे। हमारी तरह वो भी आवाज़ उठाये उसे न्याय जरुर मिलेगा। अब हमें पूरा भरोसा है कि हमें न्याय जरुर मिलेगा।"

बता दें कि यूपी के हरदोई जिले के संडीला तहसील के एक गाँव में 15 साल की दलित पीड़िता जब 16 मई 2019 को स्कूल से साढ़े दस बजे लौट रही थी तो उसके साथ पास के दो अलग-अलग गाँव के रहने वाले दो लोगों ने गैंगरेप किया।

आरोपी दबंग होने की वजह से घटना के दो महीने बाद भी गिरफ्तार नहीं हुए थे। लेकिन जब इस खबर को गाँव कनेक्शन ने प्रमुखता से छापा तो सोशल मीडिया पर फिल्म आर्टिकल-15 के डायरेक्टर से लेकर कई वरिष्ठ लोगों ने पुलिस से कार्यवाही की मांग की और नाराजगी जताई। जिसका नतीजा ये हुआ कि खबर लिखने के 24 घंटे के अन्दर मुख्य आरोपी नईम गिफ्तार कर लिया गया। जबकि दूसरा आरोपी अभी भी फरार है।


ये है पूरा मामला...

हरदोई के संडीला तहसील के थाना कछौना के एक गाँव में रहने वाली पीड़िता हर दिन की तरह 16 मई 2019 को भी सुबह 10:30 पर स्कूल से वापस लौट रही थी। उसे इस बात का अंदेशा भी नहीं था कि जिन तीन किलोमीटर सुनसान झाड़ियों से वो रोज गुजरती है आज वही रास्ता उसके जीवन का सबसे काला दिन होगा। उस दिन पास के दो अलग-अलग गांव के दबंग लड़के उसे झाड़ी में खींच ले गये जहाँ उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

पीड़िता ने गाँव कनेक्शन को बताया, "घटना के दो महीने पूरे होने को हैं, पर अभी तक कोई पकड़ा नहीं गया। पुलिस वाले कह रहे हैं घटना झूठी है, तुम मनगढ़ंत कहानी बना रही हो। अगर घटना झूठी है तो वो लोग सुलह समझौता को क्यों कह रहे हैं।"

पूरी घटना से जुड़ी जानकारी इस खबर में पढ़ें-और कितनी आर्टिकल-15 बनेंगी? पंद्रह साल की दलित लड़की को सबूत देना है कि उसका गैंगरेप हुआ है

पीड़िता आगे कहती है, "हमारे साथ जब वो लोग गलत कर रहे थे, तो कह रहे थे कि ऐसा हम बहुत लड़कियों के साथ कर चुके हैं पर कोई कुछ नहीं कर पाया। तुम भी कुछ नहीं कर पाओगी।"

जब जांच अधिकारी से पूछा गया कि एफआईआर दर्ज़ हो चुकी है, पीड़िता के 164 के बयान भी हो चुके हैं, उसके बावजूद आरोपी क्यों गिरफ्तार नहीं हुआ? तो उन्होंने कहा, "सुप्रीम कोर्ट का फैसला है कि 164 के बयान की भी विवेचना कर ली जाए।"

एफआईआर हुए लगभग दो महीने हो चुके हैं। मेडिकल जांच और रेप से संबंधित धारा 164 के बयान भी हो चुके हैं। लेकिन पुलिस के अनुसार आरोपी इसलिए अभी तक गिरफ्तार नहीं हुए क्योंकि उनके पास इस घटना को लेकर कोई साक्ष्य नहीं हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top