चक्रवात हार्वे से प्रभावित लोगों के राहत अभियान में मदद कर रहे हैं भारतीय  

चक्रवात हार्वे से प्रभावित लोगों के राहत अभियान में मदद कर रहे हैं भारतीय  हार्वे तूफान।

ह्यूस्टन (भाषा)। भारतीय अमेरिकी समुदाय चक्रवात हार्वे से प्रभावित सैकड़ों लोगों के बीच ताजा खाद्य पदार्थ, दवाई और अन्य जरुरी चीजों का वितरण करके राहत कार्य में मदद कर रहे हैं।

टेक्सास में वृहत पैमाने पर लोगों को निकालने और बचाव अभियान चल रहा है। हार्वे से पीड़ित लोगों की मदद करने के लिए आपदा राहत अभियान के लिए चंदा इकट्ठा करने का काम भी शुरु हो गया है।

अमेरिका का चौथा बड़ा शहर और टेक्सास का सबसे ज्यादा घनी आबादी वाला शहर ह्यूस्टन बाढ़ के पानी से घिरा था। इस वजह से यहां लोग बेघर और लाचार हो गए थे।

सरकारी एजेंसियां राहत कार्यों में निरंतर लगी हुई है। इस बीच भारतीय समुदाय भी खाने-पीने, आश्रय और बचाव अभियान में मदद के लिए आगे आया है।

सेवा इंटरनेशनल के ह्यूस्टन चैप्टर के अध्यक्ष गितेश देसाई ने बताया कि संगठन ने 100,000 अमेरिकी डॉलर जमा किए हैं लेकिन उनका लक्ष्य ह्यूस्टन में 250,000 डॉलर और अमेरिका में दस लाख अमेरिकी डॉलर जुटाना है।

ये भी पढ़ें:मोदी कैबिनेट : पीयूष गोयल बने नए रेलमंत्री, अरुण जेटली के पास वित्त और रक्षामंत्रालय बरकरार

देसाई ने कहा, “आने वाले सप्ताह में इस राहत अभियान को समर्थन देने के लिए बहुत कुछ करने की जरुरत है। लोगों को सामान्य जीवन में वापस लौटने में करीब छह महीने लग जाएंगे। देसाई ने कहा कि पूरे टेक्सास के स्वयंसेवक लोगों की मदद कर रहे हैं।”

ह्यूस्टन में भारत के महावाणिज्य दूत अनुपम रे ने कहा, “ग्रेटर ह्यूस्टन में 150,000 भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोग रहते हैं। करीब 30,000 लोगों को यहां से खाली कराया गया है जिनमें से भारतीयों की संख्या सैकड़ाें में होगी।

रे ने कहा कि उन्हें ह्यूस्टन के भारतीय समुदाय पर गर्व है।

Share it
Top