हर्षिता दहिया मर्डर : बहन का सनसनीखेज खुलासा- मेरे पति ने करवाया हर्षिता का मर्डर

हर्षिता दहिया मर्डर : बहन का सनसनीखेज खुलासा- मेरे पति ने करवाया हर्षिता का मर्डरमां के हत्‍यारे की चश्‍मदीद गवाह थी हर्षिता

नई दिल्ली। हरियाणवी सिंगर और डांसर हर्षिता दहिया की मंगलवार देर शाम गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। हर्षिता अपने साथियों के साथ शो के बाद वैगनआर कार से लौट रही थी उसी वक्‍त इसराना के पास बदमाशों ने कार रोक कर उन्‍हें चार गोलियां मारी। अब इस सनसनीखेज हत्‍याकांड में एक नया खुलाया हुआ है।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक हर्षिता की बहन लता ने कहा कि हर्षिता की हत्‍या उसके जीजा दिनेश ने करवायी है। दिनेश लता का पति है और हर्षिता से बलात्‍कार के आरोप में इनदिनों दिनेश तिहाड़ जेल में बंद है। इतना ही नहीं दिनेश पर हर्षिता की मां की हत्‍या का भी आरोप है और उसने अपनी पत्‍नी लता को भी धमकी दी थी।

मां के हत्‍यारे की चश्‍मदीद गवाह थी हर्षिता

रिपोर्ट्स के अनुसार हर्षिता अपनी मां के हत्यारे को पहचानती थी, इसलिए उसकी हत्या कर दी गई। शुरुआती जांच में जो बात सामने आ रही है उसके मुताबिक तिहाड़ जेल में बंद दिनेश ने ही हर्षिता की हत्‍या कर साजिश रची। हर्षिता की बहन लता ने दावा किया है कि हर्षिता मेरी मां के हत्‍यारों को पहचानती थी इसलिए दिनेश ने उसकी हत्‍या करवाई है।

काले रंग की गाड़ी में आए थे हमलावर

पानीपत पुलिस के डीएसपी देसराज ने बताया कि हर्षिता दहिया के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा गया है। चश्मदीदों के मुताबिक हमलावर काले रंग की फोर्ड फीगो कार में आए थे। वारदात से पहले वे लोग चमराड़ा गाँव में भी देखे गए थे। जब हर्षिता वहां से चली तो उन लोगों ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया।

संबंधित खबर :- हर्षिता ने फेसबुक पर मिली धमकियों पर कहा था ‘मैं जाटनी हूं डरती नहीं’ , किसानों के लिए थी चिंतित

दो कलाकारों से भी था विवाद

हर्षिता मूल रूप से हरियाणा के सोनीपत के नाहरा गांव की रहने वाली थी। वह अपनी मौसी के पास दिल्ली के नरेला में रहती थी। हर्षिता का खरखौदा के दो कलाकारों से विवाद था। दोनों म्यूजिक कंपनी चलाते हैं। विवाद होने पर दोनों ने हर्षिता को धमकी दी थी। इस पर 12 अक्टूबर को हर्षिता ने खाप को एकत्रित होने के लिए कहा था।

मैं हत्‍या कर के ही जेल जाऊंगी

हर्षिता ने कहा था, 'कुछ दिन पहले तक बहन कहने वाले आज मुझे पीठ पीछे धमकी दे रहे हैं। हिम्मत हैं तो सामने आएं। वह कहते हैं कि 376 और 302 से नहीं डरते। मैं भी धारा 302 से नहीं डरती। मुझे अनाथ बता रहे हैं। हां, मैं अनाथ हूं, इसका फायदा उठाऊंगी। मैं धारा 302 लगवाकर जेल जाऊंगी, क्योंकि मेरे पीछे रोने वाली मां नहीं है।'

कैसे हुई हत्‍या

हर्षिता दहिया और उसके तीन साथी कलाकार चमराडा गांव से करीब 4:30 बजे प्रोग्राम खत्म करके काकोदा की तरफ से अपने गाँव जा रहे थे। इसी बीच पीछे से आ रही काले रंग की कार में चार युवकों ने उनकी कार रुकवाई वह उनके तीनो साथियों को नीचे उतरने को कहा और हर्षिता की कनपटी पर गोली मार दी पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लेने के बाद कहा कि पहली नजर में ऐसा लगता है कि हमलावर हर्षिता को ही निशाना बनाने आए थे। इसलिए उन्होंने उसे ही निशाना बनाकर गोलियां चलाई।

ये भी पढ़ें :- हरियाणा की सिंगर और डांसर हर्षिता का मर्डर, गाड़ी रोककर चार गोलियां मारीं, मौके पर मौत

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top