आंधी-बारिश से दिल्‍ली वालों को मिली राहत, तापमान 10 डिग्री सेल्सियस लुढ़का

आंधी-बारिश से दिल्‍ली वालों को मिली राहत, तापमान 10 डिग्री सेल्सियस लुढ़का

लखनऊ। इस भीषण गर्मी में बुधवार की शाम आई आंधी और हल्‍की बारिश से दिल्‍ली वालों को राहत मिली है। इस आंधी और बारिश की वजह से पारा 10 डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया। बहरहाल, वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में बनी हुई है। हवाई अड्डे के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शाम को खराब दृश्यता की वजह से उड़ानों का परिचालन करीब 35 मिनट तक बंद रहा।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के उस्मानपुर इलाके में आंधी की वजह से एक घर की दीवार गिर गई जिस वजह से उसमें रहने वाला 15 साल का लड़का जख्मी हो गया। सागर नाम के लड़के को जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सफदरजंग ऑब्जर्वेटरी में अधिकतम तापमान 41.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस ज्यादा था। बहरहाल, शहर में आंधी आने के बाद शाम साढ़े सात बजे पारा लुढ़कर 29.8 डिग्री सेल्सियस पर आ गया।

इसे भी पढ़ें- इन लोगों को नहीं मिलेगा प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत 6000 रुपए का लाभ

सुबह में न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक था। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, दोपहर ढाई बजे पारा 40 डिग्री सेल्सियस था और शाम साढ़े पांच बजे तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था, लेकिन आंधी और गरज के साथ बारिश की वजह से साढ़े आठ बजे तापमान 30 डिग्री सेल्सियस हो गया था।


मौसम विभाग में, नई दिल्ली में क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि एनसीआर के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश की खबर है। गरज और आंधी ने भी तापमान को कम करने में मदद की है। पालम ऑब्जर्वेटरी में बुधवार को अधिकतम तापमान 43.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जबकि न्यूनतम पारा 32.4 डिग्री सेल्सियस रहा। आर्द्रता का स्तर 49 और 32 प्रतिशत के बीच रहा।

इसे भी पढ़ें- राजस्थान के 15 लाख किसानों को मिलेगा किसान सम्मान निधि योजना का लाभ

मौसम विभाग के अधिकारी ने अनुमान जताया है कि बृहस्पतिवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश होने की संभावना है। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 43 व 29 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है। निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काइमेट वेदर ने बताया कि दिल्ली और एनसीआर के कुछ हिस्सों में 'भारी बारिश' हो सकती है।

वहीं चक्रवात 'वायु' को लेकर एक राहत की खबर आ रही है। मौसम विभाग ने गुरुवार को कहा कि चक्रवात 'वायु' ने अपना रास्ता बदल लिया है और अब इसके गुजरात तट से टकराने की संभावना नहीं है। यह वेरवाल, पोरबंदर, द्वारका के नजदीक होते हुए गुजरेगा। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के सचिव एम राजीवन ने कहा, ''इसके (चक्रवात वायु के) तट से टकराने की संभावना नहीं है। यह केवल तट के किनारे से गुजरेगा। इसके मार्ग में हल्का बदलाव आया है लेकिन, इसका प्रभाव वहां होगा, तेज हवाएं चलेंगी और भारी बारिश होगी।'' मौसम विज्ञान विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक देवेंद्र प्रधान ने बताया कि चक्रवात समुद्र में रहेगा और गुजरात तट के किनारे-किनारे गुजरेगा। (इनपुट भाषा)


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top