उच्च न्यायालय ने सीबीएसई को उत्तर-पुस्तिकाएं फिर से जांचने के आदेश दिए  

उच्च न्यायालय ने सीबीएसई को उत्तर-पुस्तिकाएं फिर से जांचने के आदेश दिए  प्रतीकात्मक फ़ोटो 

कटक (भाषा)। छात्रों को राहत देते हुए ओडिशा उच्च न्यायालय ने आज केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) को निर्देश दिया कि वह उन छात्रों की उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन फिर से करे जिन्होंने 12वीं की बोर्ड परीक्षा के नतीजों में विसंगतियों का आरोप लगाया है।

ये भी पढ़े- आर्ट्स के विषय लेकर पढ़ाई करना शर्म की बात नहीं : सीबीएसई टॉपर रक्षा गोपाल

न्यायमूर्ति विश्वनाथ रथ की एकल पीठ ने नतीजों में विसंगतियों से प्रभावित छात्रों को यह सुझाव भी दिया कि वे कल दोपहर दो बजे तक अपनी उत्तर-पुस्तिकाओं के फिर से मूल्यांकन के लिए आवेदन करें। उन्होंने सीबीएसई से कहा कि वह उनके नतीजे 10 जून तक जारी करे।

इससे पहले, दिन में छात्रों और उनके अभिभावकों ने भुवनेश्वर में सीबीएसई के क्षेत्रीय कार्यालय के सामने भूख हडताल शुरु कर दी थी, भूख हडताल करने वाले अभिभावकों में शामिल रहे सुदर्शन दास ने कहा, "हम उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं।"

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सीबीएसई छात्र (फ़ोटो साभार - नेट )

ये भी पढ़े- पानी के बिना कुछ ऐसा दिखेगा इंडिया

अभिभावकों का संगठन कल अदालत का रुख करके उन सभी छात्रों के लिए इंसाफ की मांग करेगा जो सीबीएसई की विसंगतियों के पीडित रहे हैं।'' प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हडताल उनकी मांगें पूरी होने तक जारी रहेंगी। नतीजों में कथित विसंगतियों की सीबीआई जांच की मांग के अलावा प्रदर्शनकारियों ने उन छात्रों की उत्तर-पुस्तिकाओं के फिर से मूल्यांकन की भी मांग की जिन्होंने अपनी उत्तर-पुस्तिकाएं फिर से जांचने के लिए आवेदन किए थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top