केजरीवाल को तीन करोड़ का बिल थमाने वाले जेठमलानी हैं सबसे महंगे वकील, जानिए दूसरे वकीलों की फीस

केजरीवाल को तीन करोड़ का बिल थमाने वाले जेठमलानी हैं सबसे महंगे वकील, जानिए दूसरे वकीलों की फीसएक केस की फीस 25 लाख वसूलते हैं राम जेठमलानी

लखनऊ। जब से वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी द्वारा दिल्ली सरकार को लगभग तीन करोड़ फीस वाले बिल का मामला आया है, तब से वकीलों की फीस काफी सुर्खियों में हैं। सिर्फ राम जेठमलानी ही नहीं बल्कि दूसरे ऐसे कई वकील हैं जिनके क्लाइंट अंबानी-रॉबर्ट वाड्रा जैसी नामी-गिरामी हस्तियां हैं और लोकप्रियता के चलते इनकी फीस भी ज्यादा है।

राम जेठमलानी

फीस- 25 लाख

93 वर्ष के राम जेठमलानी सबसे उम्रदराज वकील हैं। सीनियर एडवोकेट राम जेठमलानी लालकृष्ण आडवाणी, अमित शाह, जयललिता, येदुयरप्पा, हाजी मस्तान जैसों के वकील रह चुके हैं। हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मानहानि के मुकदमे के मामले में पैरवी के एवज में 3.42 करोड़ रुपए का बिल थमाने पर चर्चा में आए। राम जेठमलानी केंद्रीय कानून मंत्री और बार काउंसिल ऑफ इंडिया के वकील भी रह चुके हैं। वह क्रिमिनल लॉ में विशेष पारंगत हैं।

फली नरीमन

फीस- 8-15 लाख

भारत की न्याय व्यवस्था में अपना विशेष योगदान देने वाले फली नरीमन को पद्म भूषण, पद्म विभूषण और कई दूसरे प्रतिष्ठित अवॉर्ड्स से नवाजा जा चुका है। वह अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थ मामलों के लिए व्यापक रूप से प्रशंसित सॉलिसिटर भी हैं।

केके वेणुगोपाल

फीस- 5-7.5 लाख

यह भारत के जाने-माने वकील हैं। इस समय बाबरी विध्वंस मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी के पक्ष में केस लड़ रहे हैं। इन्हें भूटान की सरकार ने संविधान के निर्माण के दौरान सलाहकार के रूप में शामिल किया था। वेणुगोपाल पद्म भूषण और पद्म विभूषण से भी सम्मानित हो चुके हैं।

गोपाल सुब्रह्मणयम

फीस- 5.5-15 लाख


भारत के सीनियर अधिवक्ता जो ज्यादातर सुप्रीम कोर्ट और दिल्ली हाई कोर्ट में प्रैक्टिस करते हैं। वह 2009 से 2011 तक भारत के सॉलिसिटर जनरल भी रह चुके हैं। सुब्रह्मणियम सेंट्रल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में ओबीसी कोटा के लिए और दिल्ली के आवासीय क्षेत्रों में उद्योगों को सील करने वाले केस में सरकार का पक्ष रख चुके हैं। वह सॉलिसिटर जनरल के कार्यकाल के दौरान बार काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

पी. चिदंबरम

फीस 6-7 लाख

भारत के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम का नाम लोकप्रिय वकीलों में शुमार है। वह भारत के कई हाई कोर्ट सहित सुप्रीम कोर्ट में भी वकालत का अभ्यास कर चुके हैं।

हरीश साल्वे

फीस 6-15 लाख

हरीश साल्वे नौ साल तक भारत के सॉलिसिटर जनरल रह चुके हैं। वर्तमान समय में वह ज्यादातर सुप्रीम कोर्ट में ही प्रैक्टिस करते हैं और हाई कोर्ट में भी संबंधित मामलों को देखते हैं। वह रिलायंस, टाटा, आईटीसी और वोडाफोन के लिए केस लड़ चुके हैं।

अभिषेक मनु सिंघवी

फीस- 6-11 लाख

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी 37 साल की उम्र में भारत के सबसे नौजवान एडिशनल सॉलिसिटर जनरल बने। वह राज्यसभा सांसद हैं और राजस्थान का प्रतिनिधित्व करते हैं।

सी. आर्यामा सुंदरम

फीस- 5.5 से 16.5 लाख

सुंदरम वरिष्ठ अधिवक्ता हैं और कॉर्पोरेट लॉ की प्रैक्टिस करते हैं। इसके अलावा संवैधानिक कानून और मेडिकल संबंधित केस भी देखते हैं। वह प्राय: रूप से बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसके अलावा अनिल अंबानी और दूसरे हाई-प्रोफाइल लोग भी उनके क्लाइंट्स हैं।

सलमान खुर्शीद

फीस-6 लाख

पूर्व विदेश मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद वरिष्ठ अधिवक्ता और कानून अध्यापक हैं।

केटीएस तुलसी

फीस- 5 लाख

केटीएस तुलसी सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता हैं। रॉबर्ट वॉड्रा जैसे कई नामी-गिरामी हस्तियां उनकी क्लाइंट्स हैं। 1994 से वह क्रिमिनल जस्टिस सोसाइटी के अध्यक्ष हैं। सुप्रीम कोर्ट में वह केंद्रीय सरकार को दस से ज्यादा बार रिप्रजेंट कर चुके हैं।

स्रोत: लीगली इंडिया

Share it
Top