राजस्थान के राज्यपाल ने कहा- महापुरुषों की जयन्ती के मौके पर अवकाश समाप्त किया जाए

राजस्थान के राज्यपाल ने कहा- महापुरुषों की जयन्ती के मौके पर अवकाश समाप्त किया जाएराजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह।

जयपुर (भाषा)। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा है कि महापुरुषों की जयन्ती के अवसर पर अवकाश समाप्त किया जाना चाहिए। राज्यपाल ने कल बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 126वीं जयंती के अवसर पर कहा कि महापुरुषों की जयंती पर अवकाश समाप्त कर इस दिन स्कूल व कॉलेजों में महापुरुषों की जीवनी पर गोष्ठी का आयोजन किया जाए ताकि युवाओं को उनके बारे में अधिकाधिक जानकारी मिल सके।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा कि समाज में सामाजिक समरसता होनी चाहिए ऊँच नीच का भेदभाव समाप्त होना चाहिए और इसलिए बाबा साहेब हर भारतीय के आदर्श हैं।

उन्होंने कहा कि डॉ. अम्बेडकर ने कहा था कि जब तक समाज में सामाजिक समरसता पैदा नहीं होगी, तब तक समाज उन्नति नहीं कर सकता है। यहीं से ही स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व जैसे नैतिक मूल्यों की स्थापना होती है. यहीं सामाजिक न्याय की अवधारणा है। सभी को समान न्याय का सिद्घान्त सारगर्भित है और अधिकांशत: उन सभी सिद्घान्तों को भी अपने में सम्मिलित करता है जो कि एक नैतिक व्यवस्था के लिए आवश्यक है।

राज्यपाल ने इस मौके पर बारह लोगों को नकद राशि एवं प्रशस्त्रि पत्र देकर अम्बेडकर पुरस्कार से सम्मानित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. अरुण चतुर्वेदी, राजे मंत्रिमंडल के सदस्य, वरिष्ठ अधिकारी जनप्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top