गर्मी से इंसान ही नहीं जानवर भी बेहाल, शीशा तोड़कर चलती कार में घुसा घोड़ा

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   5 Jun 2017 1:35 PM GMT

गर्मी से इंसान ही नहीं जानवर भी बेहाल, शीशा तोड़कर चलती कार में घुसा घोड़ागाड़ी में घुसा घोड़ा।

जयपुर। उत्तर भारत में भीषण गर्मी के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है। गर्मी की वजह से इंसान ही नहीं बल्कि पशु भी गश खाकर बेहोस हो रहे हैं। रविवार का दिन अब तक का कई वर्षों में सबसे गर्म दिन रहा।

जानकारी के मुताबिक जयपुर के हसनपुरा में एक तांगेवाले ने अपना घोड़ा सड़क किनारे बांधा हुआ था। जयपुर में गर्मी का आलम इन दिनों सिर चढ़कर बोल रहा है, गर्मी करीब 43 डिग्री थी। तांगेवाले ने चारे की पोटली घोड़े के मुंह पर बांध दी थी, जिससे घोड़े को दिख नहीं रहा था। गर्मी की वजह से घोड़ा रस्सी तोड़कर भागा तो सामने से आ रही एक कार के ऊपर कूद गया और कार के शीशे को तोड़ते हुए सीधे अंदर जा घुसा। घोड़ा जैसे ही सड़क पर भागा तो चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई।

इस हादसे की तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रहा है। राजस्थान के उत्तरी और पश्चिमी हिस्से में गर्मी का तेप प्रकोप है। अगले 24 घंटे में तापमान के 45 डिग्री सेल्सियस पहुंच जाने की उम्मीद जताई गई है।

काफी मशक्‍कत के बाद घोड़े को कार से बाहर निकाला जा सका। हालांकि, गनीमत यह रही कि दुर्घटना में कार ड्राइवर और घोड़े को ज्‍यादा चोटें नहीं आईं। घोड़े के टांगों में शीशे के कुछ टुकड़े धंस गए थे। इसके चलते उसे कार से निकालने में काफी परेशानी हुई।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि वे समझ ही नहीं पाए कि आखिर ये हादसा हुआ कैसे? इस दुर्घटना को देखने वालों ने बताया कि कार सिविल लाइंस की ओर से आ रही थी। वहीं रेलवे स्टेशन की ओर से एक व्यक्ति पैदल चलकर घोड़ा ले जा रहा था। तभी जयपुर क्लब के सामने अचानक घोड़ा बिदक गया और कार के आगे का शीशा तोड़कर अंदर घुस गया।

वह करीब 10 मिनट तक कार में फंसा रहा। वहां मौजूद किसी भी व्यक्ति को घोड़े को बाहर निकालने का रास्‍ता नहीं समझ आ रहा था। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से कार का दरवाजा तोड़कर घोड़े को कार से बाहर निकाला गया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.