भारतीय ग्राहकों के लिए आवास ऋण की ब्याज दर काफी अधिक

भारतीय ग्राहकों के लिए आवास ऋण की ब्याज दर काफी अधिकफोटो साभार-इंटरनेट

नई दिल्ली (भाषा)। एक अध्ययन के अनुसार भारत में आवास ऋण पर ब्याज बहुत ऊंचा है जो कि संभावित क्रेताओं को निरुत्साहित करता है। इंडिया मोर्गेज गारंटी कारपोरेशन (आईएमजीसी)- और आईएमआरबी के एक अध्ययन में यह निष्कर्ष निकाला गया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इसके अनुसार महानगरों व बड़े शहरों के बजाय छोटे कस्बों में युवा आयुवर्ग (25-44 वर्ष) के बीच किफायती मकानों की अच्छी मांग है। नेशनल हाउसिंग बैंक के सीईओ श्रीराम कल्याणरमन ने यहां रिपोर्ट जारी करते हुए कहा-आवास क्षेत्र उंची वृद्धि को तैयार विशेषकर किफायती मकान खंड में काफी संभावनाएं हैं।

ये भी पढ़ें- अब पूरा होगा अपने घर का सपना, मिडिल क्लास को सस्ते होम लोन का तोहफा, पीएम ने पूरा किया वादा

अध्ययन में शामिल 38 प्रतिशत लोगों ने आवास रिण की ब्याज दरों को बहुत ऊंचा बताया जबकि इतनी ही संख्या में लोगों ने बचत नहीं होने का जिक्र किया। इसमें कहा गया है कि संपत्ति की ऊंची कीमतें व ऋण अभाव के चलते लोग मकान नहीं खरीद पाते।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top