अब जगह-जगह आधार कार्ड ले जाने से मिलेगा छुटकारा, जानिए कैसे

अब जगह-जगह आधार कार्ड ले जाने से मिलेगा छुटकारा, जानिए कैसेलॉन्च हुआ ए आधार ऐप (फोटो साभार : गूगल)

लखनऊ। हाल ही में यूआईडीएआई (यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने एम आधार ऐप लॉन्च की है। जैसा कि नाम से ही साफ है कि अब आपको अपना आधार कार्ड जगह-जगह कैरी करने की जरूरत नहीं है।

मोबाइल आधार के जरिए यूजर अब अपने आधार से जुड़ी जानकारियां जैसे नाम, जन्मतिथि, जेंडर, पता और फोटोग्राफ को अपने स्मार्टफोन में ही दिखा सकते हैं। हालांकि एम आधार ऐप अभी केवल एंड्रॉइड वर्जन में ही उपलब्ध है।

कैसे इस्तेमाल करें

गूगल प्ले स्टोर से जब आप एमआधार ऐप को सर्च करेंगे तो उसके विवरण में लिखा हुआ देखेंगे कि एम आधार ऐप को इस्तेमाल करने के लिए आपको अपना मोबाइल नंबर आधार के साथ रजिस्टर कराना होगा। यह इसकी पहली शर्त है।

यदि नंबर पंजीकृत नहीं है तो करीबी आधार एनरोलमेंट सेंटर में जाकर इसे जुड़वाएं या मोबाइल अपडेट एंड पॉइंट पर जाना रजिस्टर करना होगा। इसके बाद रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ओटीपी मिलेगा जिसे यहां एंटर करना होगा। ओटीपी ऑथेन्टिकेशन के बाद आपके आधार की तमाम जानकारी यहां मिलेगी। वैसे बता दें कि यह अभी बीटा वर्जन में है। हालांकि, अभी यह ऐप बीटा वर्जन में है और शुरुआत में इसमें कुछ ही सर्विसेस मिलनी शुरू होंगी।

क्या क्या सुविधाएं होंगी

जैसा कि पहले हमने बताया कि एम मोबाइल ऐप की मदद से आपको अब अपना आधार कार्ड और आधार नंबर लेकर जाने की जरूरत नहीं होगी। आप अपने एम आधार ऐप पर अपनी प्रोफाइल को एड्रेस प्रूफ या आईडी प्रूफ के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

आपका पर्सनल डाटा सुरक्षित रहे इसके लिए बायोमीट्रिक लॉकिंग फीचर दिया गया है। एक बार ऐप को लॉक कर दिया तो यह तब तक अनलॉक नहीं होगा जब तक इसे यूजर खुद अनलॉक नहीं करेगा।

ऐप में टीओटीपी (TOTP) की सुविधा भी सुरक्षा के लिहाज से दी गई है। TOTP यानी Time-based One-Time Password जेनरेट होगा।

यूजर्स अपने प्रोफाइल को अपडेट भी कर सकेंगे लेकिन इसके लिए आपको पहले क्यूआर कोड के जरिए आवेदन करना होगा। आधार द्वारा अप्रूव होने के बाद ही ऐसा होगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top