बिहार: मुजफ्फरपुर अस्पताल के पीछे मिले मानव कंकाल, जांच के लिए बनाई जाएगी कमेटी

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज व अस्पताल (एसकेएमसीएच) के पिछले हिस्से में स्थित वैन विभाग के जंगलों में कई नरकंकाल मिले हैं। इससे आसपास के इलाके में सन्‍नसनी फैल गई है। यह वही अस्‍पताल है जहां चमकी बुखार से 120 से अधिक बच्‍चों की मौत हो गई है। इस मामले को लेकर अधीक्षक ने कहा कि यह घटना अमानवीय है। इसे जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

इस संबंध में एसकेएमसीएच के अधीक्षक एसके शाही ने कहा कि मानव कंकालों के मिलने की जानकारी मिली है। पोस्टमार्टम हाउस कॉलेज प्रिंसिपल के अधिकार क्षेत्र में हैं। वह प्रिंसिपल से बात करेंगे और जांच समिति गठित कर जांच कराने को कहेंगे।




मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौतों से चौंकिए मत, भारत में हर दो मिनट में एक नवजात की मौत

उन्होंने कहा कि ऐसी लापरवाही क्यों हो रही है, इसकी जांच जरुरी है। मानवीय संवेदना का ध्यान रखते हुए शवों का अंतिम संस्कार कराना चाहिए न कि उसे यूं ही फेंक दिया जाना चाहिए। मालूम हो कि नियमों के अनुसार अज्ञात शवों के अंतिम संस्कार के समय एक पुलिसकर्मी की उपस्थिति जरुरी होती है। इसके बावजूद शवों को ऐसे ही क्यों फेंका जा रहा है, यह जांच का विषय है।

एसकेएमसीएच के डॉ विपिन कुमार मौके पर पहुंचे और उन्होंने भी बड़ी मात्रा में फेंके गए नर कंकालों को देखा। उन्होंने कहा कि इस बारे में आधिकारिक जानकारी कॉलेज प्राचार्य ही देंगे।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top