पहचान छिपाकर बाढ़ पीड़ितों की मदद करता रहा ये आईएएस आॅफिसर, अब सोशल साइट्स पर लोग कर रहे तारीफ

पहचान छिपाकर बाढ़ पीड़ितों की मदद करता रहा ये आईएएस आॅफिसर, अब सोशल साइट्स पर लोग कर रहे तारीफ

लखनऊ। केरल में आई भीषण बाढ़ ने जहां जान और माल की भारी क्षति हुई तो वहीं इसी बीच कुछ मानवीय चेहरे भी सामने आये। पूरा देश केरल के साथ आ गया है। लोग अपने सामर्थ्य के अनुसार मदद कर रहे हैं। इसी बीच सोशल साइट्स पर एक आईएएस ऑफिसर की कुछ तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रही हैं। ये आईएएस अफसर अपनी पहचान छिपाकर बाढ़ पीड़ितों की मदद कर रहा है। यहां तक उन्होंने इस काम के लिए आठ दिन की छुट्टी भी ली।


यह ऑफिसर है कन्नन गोपीनाथन। कन्नन 2012 बैच के एजीएमयूटी कैडर के ऑफिसर हैं और केरल के कोयट्टम के रहने वाले हैं। दादरा एंड नगर हवेली के कलेक्टर हैं।

केरल के अखबारों और सोशल साइट्स की खबरों की मानें तो केरल में भीषण बाढ़ को देखते हुए उन्होंने तुरंत छुट्टी ले ली और अपने गृह राज्य आ गए। यहां उन्होंने पहले दादरा एंड नगर हवेली प्रशासन की ओर से एक करोड़ रुपए की मदद दी और फिर खुद राहत कार्य में जुट गये। बिना अपनी पहचान बताये कुछ दिन अलपुझा में काम किया फिर एर्नाकुलम रवाना हो गये। गोपीनाथन ने राहत कार्य के समय की कई तस्वीरों को ट्वीटर पर भी साझा किया।


खबरों के अनुसारी कन्नन की पहचान एर्नाकुलम में उस समय उजागर हुई जब केबीपीएस प्रेस सेंटर पहुंचे वहां के कलेक्टर ने उन्हें पहचान लिया। इसके बाद कन्नन के साथ काम करने वाले लोग हैरान रह गये कि उसने साथ इतना बड़ा अधिकारी काम कर रहा है।

ये खबर मिलते ही सोशल साइट्स पर कन्नन की तस्वीरें और खबरें शेयर की जा रही हैं। कन्नन के इस सराहनीय काम के लिए लोग उनकी खूब तारीफ कर रहे हैं। इसके अलावा आईएएश एसोसिएशन ने भी कन्नन की सराहना की है।

Share it
Share it
Share it
Top