इफको की डिजिटल बाजार सेवा मुहीम में 1.80 करोड़ किसान जुड़े - उदय शंकर अवस्थी 

इफको की डिजिटल बाजार सेवा मुहीम में 1.80 करोड़ किसान जुड़े - उदय शंकर अवस्थी प्रतीकात्मक फोटो 

नई दिल्ली, (आईएएनएस)| डिजिटल मुहिम में शामिल होते हुए इफको ने इफको बाजार सेवा शुरू की और अब इस प्लेटफार्म से 1.80 करोड़ किसान जुड़ चुके हैं। इफको बाजार पर किसानों को हर तरह की जानकारी निशुल्क उपलब्ध है। यहां उर्वरक, जैव उर्वरक, पौध विकास प्रोत्साहक, कृषि रसायन, बीज, बीमा, ऋण और ग्रीन सिम सेवाएं तो उपलब्ध हैं ही, इसके अलावा क्रेता-विक्रेताओं के लिए भी यह उपयोगी मंच साबित हो रहा है।


इंडियन किसान फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) के प्रबंध निदेशक उदय शंकर अवस्थी ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, "इफको केंद्र सरकार की डिजिटल मुहिम में सहभागी बनकर किसानों को हरसंभव मदद पहुंचा रहा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इफको बाजार से अब तक करीब पौने दो करोड़ लोग जुड़ चुके हैं।" किसानों से संवाद के लिए देशभर में 125 यात्राओं पर निकले अवस्थी ने कहा, "हम किसानों को हर स्तर पर जागरूक कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किसानों की आय दोगुना करने के अभियान में मददगार बनने की कोशिश में जुटे हैं। इफको बाजार किसानों की आय दोगुना करने में एक औजार की तरह है। इससे कई किसानों ने व्यापक स्तर पर लाभ उठाया है।"

ये भी पढ़ें-कर्जमाफी योजना का असल मुद्दा : जिन्होंने समय पर चुकाया कर्ज, उन्हीं ने उठाया नुकसान

अब तक विभिन्न राज्यों में 100 से अधिक यात्रा कर चुके अवस्थी ने कहा कि वे जहां भी गए बैठक में 1500 से 2000 किसानों एवं प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। उनसे विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। उनकी समस्याओं को जानने का अवसर मिला। उन्होंने कहा, "हमने किसानों को यूरिया का कम इस्तेमाल करने के प्रति जागरूक किया और बायो फर्टिलाइजर के उपयोग पर जोर दिया।" उन्होंने कहा कि इस पोर्टल के जरिये बताया गया है कि कैसे अच्छी खेती करनी चाहिए और पेस्टिसाइड का कैसे संतुलित मात्रा में उपयोग करना चाहिए।

अवस्थी ने कहा, "भारतीय युवाओं के सशक्तीकरण के लक्ष्य से 'इफको युवा' की शुरुआत की गई है। इस मंच पर, युवा भारत के शीर्ष कंपनियों में उपलब्ध कैरियर अवसरों के लिए अपने कौशल का आकलन और सुधार कर सकते हैं। इफको युवा पोर्टल से जुड़ने के लिए इस पोर्टल में रेजिस्टर करके ऑनलाइन और ऑफलाइन पाठ्यक्रमों के माध्यम से टेस्ट प्राप्त कर सकेंगे। इन टेस्ट सीरीज के माध्यम से युवा अपने कौशल में सुधार कर सकते हैं, जिससे उन्हें रोजगार के अवसर दिलाने में मदद मिलेगी।" उन्होंने कहा कि भारतीय ग्रामीण परिवेश को बदलने के लिए दूरसंचार एक तेजी से बढ़ता हुआ क्षेत्र है। हाल के वर्षो में इसने भारतीय गांवों में रहने वाले लोगों के सशक्तीकरण में योगदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है। इंडियन किसान फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको), दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल और स्टार ग्लोबल रिसोर्सेज लिमिटेड ने साथ मिलकर इफको किसान संचार लिमिटेड को संयुक्त उद्यम के तौर पर स्थापित किया है।

ये भी पढ़ें-चूहों से फसल को बचाने के लिए किसानों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

अवस्थी ने कहा कि एयरटेल इफको किसान संचार लिमिटेड के नेटवर्क का विस्तार कर रही है, साथ ही सहकारी समितियों के लिए एक स्थायी आय पैदा करने वाला व्यापारिक अवसर भी प्रदान कर रही है। इस मॉडल के तहत एयरटेल के दूरसंचार उत्पादों को किसानों और सहकारी समितियों के माध्यम से गांवों में रहने वाले लोगों को उपलब्ध कराया जाता है। जो सिम कार्ड संचार के लिए उपयोग किया जाता है, वही सिमकार्ड प्रासंगिक और उचित जानकारी के माध्यम से गांवों में रहने वाले लोगों को सशक्त बनाने के काम भी आता है, क्योंकि इस पर इफको किसान संचार लिमिटेड द्वारा मूल्यवर्धित सेवाएं (वीएएस) प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि इफको का प्रयास ग्रामीण भारत में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के नवीनतम लाभों को पहुंचाना है। इफको ने लाखों किसानों के साथ एक मजबूत बंधन स्थापित किया है, जो कि इसके प्रमुख हितधारक हैं। क्षेत्रीय प्रदर्शनों, अभियान, मृदा परीक्षण, महत्वपूर्ण निवेश संकुल, चिकित्सा अभियान, गांव के गोद लेने, किसान प्रशिक्षण जैसे कार्यक्रमों की एक बड़ी संख्या के अलावा, इफको ने ग्रामीण भारत को लक्ष्य करते हुए कार्यक्रम चलाने वाले कई संस्थानों को स्थापित किया है। इनमें कोरडेट, इफको फाउंडेशन, किसान सेवा ट्रस्ट और आईएफएफडीसी शामिल है।

इफको बाजार की सेवाएं इफको बाजार डॉट इन वेबसाइट पर उपलब्ध है। यहां पर अनाजों, सब्जियों, फलों समेत विभिन्न कृषि उत्पादों की थोक में खरीदारी की जा सकती है। वहीं, खाद/बीज/एग्रो केमिकल्स की बिक्री कर रहे फर्म/मालिक आईएफएफडीसी की फ्रेंचाइजी भी ले सकते हैं। इसके लिए फर्म के पास खाद, बीज, एग्रो केमिकल्स की बिक्री के लिए लाइसेंस होना चाहिए और पैन नम्बर जरूरी है। फर्म का आयकर रिटर्न नियमित रूप से दाखिल होना चहिए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top