पंजाब में फसल की पराली जलाने से दिल्ली में फीफा वर्ल्ड कप की बढ़ी परेशानियां

पंजाब में फसल की पराली जलाने से दिल्ली में फीफा वर्ल्ड कप की बढ़ी परेशानियांफोटो साभार इंटरनेट

नई दिल्ली (भाषा)। पंजाब में किसानों के फसल की पराली जलाने के साथ-साथ नई दिल्ली में विभिन्न परियोजनाओं के निर्माण कार्यों से निकल रही धूल से तेजी से दूषित हुए पर्यावरण ने फीफा के जूनियर फुटबॉल वर्ल्ड कप के आयोजन में परेशानियों को बढ़ा दिया है। ऐसी में केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने इस संकट के गहराने की आशंका के मद्देनजर दिल्ली एनसीआर से जुड़े सभी राज्य सरकारों को तत्काल प्रभावी कदम उठाने को कहा है।

भारत में पहली बार आयोजन

भारत में फुटबॉल वर्ल्ड कप का पहली बार आयोजन किया जा रहा है। विश्व कप के लिए दुनिया भर से आए खिलाड़ियों, कोच और दर्शकों के लिए नई दिल्ली में उभरकर आई वायु प्रदूषण की समस्या के बाद सरकार ने यह बात मानी है कि पंजाब में फसलों की पराली जलाने और नई दिल्ली में बढ़े निर्माण कार्यों से उपजी धूल से संकट गहरा रहा है।

यह भी पढ़ें: फीफा ने पाकिस्तान फुटबाल संघ को निलंबित किया

पांच राज्यों के मंत्रियों और अधिकारियों के साथ आपात बैठक

इस मामले में वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ़. हर्षवर्धन ने नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और पंजाब सरकारों को इस समस्या के समाधान के लिए निर्धारित मानकों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने को कहा है। इससे पहले डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को पांचों राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों और अधिकारियों की आपात बैठक बुलाकर पंजाब और दिल्ली सरकार को सघन औचक निरीक्षण अभियान चलाने और इसकी नियमित रिपोर्ट मंत्रालय को भेजने को कहा है।

पराली जलाने में नहीं लग पा रही प्रभावी रोक

बैठक में मौजूद दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि पंजाब में किसानों द्वारा पराली जलाने पर प्रभावी रोक नहीं लग पाने पर बैठक में चिंता जताई गई। साथ ही दिल्ली में निर्माणकार्यों से निकलने वाली धूल को रोकने के लिए गए उपायों को नाकाफी बताते हुए बड़ी परियोजनाओं पर अस्थायी रोक लगाने सहित अन्य विकल्पों पर विचार कर शुक्रवार को आहूत समीक्षा बैठक में रिपोर्ट देने को कहा गया है।

Share it
Top