वायुसेना के पायलटों को 'दो मिनट' में तैयार रहने को कहा गया

भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारतीय वायुसेना ने अपने पायलटों को हाई अलर्ट पर कर दिया है। भारतीय वायुसेना ने अपने पायलटों को 'दो मिनट' में तैयार रहने को कहा है।

वायुसेना के पायलटों को

लखनऊ। पाकिस्तान की सीमा में घुस कर भारतीय वायुसेना द्वारा जैश के आतंकी शिविरों को धवस्त करने के बाद दूसरे दिन पाकिस्तान के विमानों ने अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखा का उल्लंघन करते हुए भारतीय सीमा में बमबारी की। जिन्हें भारतीय वायुसेना ने खदेड़ दिया।

इसी बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारतीय वायुसेना ने अपने पायलटों को हाई अलर्ट पर कर दिया है। भारतीय वायुसेना ने अपने पायलटों को 'दो मिनट' में तैयार रहने को कहा है। इस बीच भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के एक F-16 विमान को ध्वस्त कर दिया।

वहीं, बड़गाम में तकनीकी खराबी के चलते वायुसेना का एक हेलीकाप्टर MI-17V5 तकनीकी खराबी के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हेलीकाप्टर का उड़ान भरने के आधे घंटे के बाद हेलीकाप्टर से संपर्क टूट गया और दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इसमें दो जवानों के मारे जाने की आशंका है।

उधर पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना के दो विमान मार गिराने का दावा किया है। पाकिस्तान का दावा है कि उन्होंने भारत के दो पॉयलटों को गिरफ्तार भी किया है। एक पॉयलट का नाम अभिनंदन बताया गया है। पाकिस्तान का दावा है कि वह कुछ देर में इस घटना का वीडियो भी पेश करेंगे।

मौजूदा तनावपूर्ण हालात को देखते हुए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक हाईलेवल मीटिंग की गई। इस मीटिंग में गृह मंत्री, रॉ प्रमुख, एनएसए और गृह सचिव मौजूद थे।

बढ़ते तनाव के बीच श्रीनगर, लेह, जम्मू ओर पठानकोट एयरबेस को हाई अलर्ट पर रखा गया है। साथ ही श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर, चंडीगढ़ और अमृतसर से सभी उड़ानें रोक दी गई हैं। कई अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के रूट में बदलाव किया गया है।

इससे पहले पाक अधिकृत कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद अमेरिका ने दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के मद़देनजर चिंता जाहिर करते हुए दोनों देशों के विदेश मंत्रियों से बात की। अमेरिकी प्रवक्ता ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात कर सुरक्षा सहयोग को ध्यान में रखते हुए क्षेत्र में शांति बनाए रखने को कहा है।

वहीं, अमेरिका ने पाकिस्तानी विदेश मंत्री याकूब कुरौशी से बढ़ते तनाव को कम करने के लिए किसी भी तरह की सैन्य कार्रवाई से बचने और पाकिस्तान की जमीन से संचालित हो रहे आतंकी अड्डों पर प्रभावी कार्रवाई करने को कहा है। अमेरिका ने दोनों देशों को सीधे बात करने की सलाह देते हुए किसी भी सैन्य कार्रवाई से बचने की सलाह दी है।





More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top