जम्मू कश्मीरः घुसपैठ की एक और कोशिश नाकाम, सेना ने उड़ी में मार गिराए 6 आतंकवादी

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   10 Jun 2017 8:52 AM GMT

जम्मू कश्मीरः घुसपैठ की एक और कोशिश नाकाम, सेना ने उड़ी में मार गिराए 6 आतंकवादीजम्मू कश्मीर।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ करने वाले आतंकियों के खिलाफ भारतीय सेना का ऑपरेशन जारी है। भारतीय सेना ने कश्मीर के उड़ी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के नजदीक घुसपैठ की एक और कोशिश को नाकाम करते हुए शुक्रवार को छह आतंकवादियों को मार गिराया। इस अभियान के साथ ही पिछले तीन दिन में विभिन्न सेक्टरों में मार गिराए गए घुसपैठियों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है। पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

इस बारे में जानकारी देते हुए सेना के अधिकारी ने बताया कि सीमा पार से घाटी में चुपके से घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे आतंकवादियों की आवाजाही को सैनिकों ने देखा था। इसके बाद उड़ी में गुरुवार से ही घुसपैठ-रोधी अभियान चल रहा था। अधिकारी ने बताया कि सैनिकों ने घुसपैठियों को ललकारा, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी। इस दौरान कुल 6 आतंकवादी मार गिराए गए।

उत्तरी कमान के रक्षा प्रवक्ता ने गुरुवार को बताया था, 'जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के करीब तैनात भारतीय सेना की टुकड़ियां हथियारों से लैस घुसपैठियों को एलओसी पार कराने की पाकिस्तानी सेना की विभिन्न कोशिशों को नाकाम कर चुकी है।' उन्होंने कहा था कि पिछले 48 घंटे में गुरेज, माछिल, नौगाम और उड़ी सेक्टरों में घुसपैठ के प्रयासों को नाकाम किया गया है।

भारतीय सेना ने गुरुवार को पाकिस्तानी सेना पर कश्मीर में सशस्त्र आतंकियों की घुसपैठ कराने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन गुटों को नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ के दौरान 'गोलाबारी से कवच' सहित सक्रिय समर्थन दिया जा रहा है। सेना की ओर से बताया गया है कि मार गिराए गए आतंकियों के पास से बड़ी संख्या में हथियार, कारतूस और जंग छेड़ने की सामग्री जब्त की गई है।

बता दें कि उड़ी में स्थित भारतीय सेना के कैंप पर पिछले साल पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने बड़ा हमला किया था, जिसमें 19 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। हमला करने वाले 4 आतंकवादियों को सेना ने ढेर कर दिया था। इस हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में तनाव काफी बढ़ गया था।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top