प्रगति मैदान में कल से व्यापार मेला, 'भारत में ग्रामीण उद्योग' पर होगा फोकस

इस बार 38वें व्यापार मेले का आयोजन प्रगति मैदान के कुल क्षेत्रफल के मात्र 20 प्रतिशत हिस्‍से में ही किया जा रहा है।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
प्रगति मैदान में कल से व्यापार मेला, भारत में ग्रामीण उद्योग पर होगा फोकस

नयी दिल्‍ली (भाषा)। व्यापार संवर्धन के लिये हर साल 14 से 27 नवंबर तक आयोजित किया जाने वाला भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला-2018 (आईआईटीएफ) बुधवार से यहां प्रगति मैदान में शुरू होने जा रहा है। केन्द्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग राज्य मंत्री सी.आर. चौधरी मेले का उद्घाटन करेंगे। केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री महेश शर्मा भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे। निर्माण कार्य के चलते इस बार मेले का आकार काफी छोटा होगा।

इस बार 38वें व्यापार मेले का आयोजन प्रगति मैदान के कुल क्षेत्रफल के मात्र 20 प्रतिशत हिस्‍से में ही किया जा रहा है। प्रगति मैदान को एक विश्‍व स्तरीय प्रदर्शनी एवं सम्मेलन केन्द्र के तौर पर विकसित किया जा रहा है। इसके लिये निर्माण कार्य जारी है, यही वजह है कि मेले का आकार इस बार काफी छोटा रखा गया है। हर वर्ष की भांति मेले के पहले चार दिन 14 से 17 नवंबर तक केवल कारोबारी दर्शकों के लिये होंगे।


आईआईटीएफ- 2018 की मुख्य विषयवस्तु 'भारत में ग्रामीण उद्योग' रखी गई है। वाणिज्‍य एवं उद्योग राज्यमंत्री हॉल नंबर सात के पास हंस घ्वनि थियेटर में मेले का उद्घाटन करेंगे। केन्द्रीय संस्कृति राज्यमंत्री महेश शर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित होंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष में आयोजित हो रहे मेले में ग्रामीण एवं लघु उद्योगों पर जोर दिया गया है। मेले का आयोजन प्रगति मैदान के हाल नंबर सात, आठ, नौ, दस, 11, 12 और 12-ए तक ही सीमित रहेगा।

व्यापार मेले की आयोजक इंडिया ट्रेड प्रमोशन आर्गनाइजेशन (इटपो) के जनसंपर्क अधिकारी संजय वशिष्‍ट ने बताया कि मुख्य विषयवस्तु प्रदर्शनी हाल नंबर सात में लगाई गई है। ग्रामीण विकास मंत्रालय के तत्वावधान में यह मंडप लगाया गया है। इसमें मेक इन इंडिया', डिजिटल इंडिया, कुशल भारत, स्वच्छ भारत और स्टार्ट-अप इंडिया का भी प्रदर्शन किया जायेगा। सरकारी संगठन, राज्यों के उद्यमी भी उपलब्ध स्थान के अनुरूप मेले में भाग लेंगे।

आईआईटीएफ 2018 में झारखंड को फोकस राज्य बनाया गया है। अफगानिस्‍तान को भागीदार देश और नेपाल को फोकस देश की श्रेणी में रखा गया है। इसके अलावा चीन, हांगकांग, ईरान, म्यांमा, नीदरलैंड, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, थाइलैंड, तुर्की, ट्यूनीशिया, वियतनाम और संयुक्त अरब अमीरात के उद्यमी मेले में भाग लेंगे।

मेले में दर्शकों का प्रवेश भी इस बार सीमित स्तर पर ही होगा। मेले क्षेत्र में प्रवेश गेट नंबर एक (भैरों मार्ग), गेट नंबर आठ (मथुरा रोड़), गेट नंबर दस (प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन) से ही होगा। पहले चार दिन केवल व्यापारी, उद्यमियों के लिये होंगे। इन चार दिनों में प्रवेश टिकट 500 रुपये और पूरे चार दिन का टिकट 1800 रुपये प्रति व्यक्ति होगा। इसके बाद 18 से 27 नवंबर के दौरान आम जनता के लिये शनिवार, रविवार, सार्वजनिक अवकाश में प्रति वयस्क 120 रुपये और बच्चे का टिकट 60 रुपये होगा। कार्य दिवसों में यह टिकट क्रमश: 60 और 40 रुपये होगा। मेले में प्रवेश के टिकट प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन को छोड़कर चुनिंदा 66 मेट्रो स्टेशनों पर उपलब्ध होंगे। प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन, प्रगति मैदान के प्रवेश द्वारों पर व्यापार मेले के टिकट नहीं बिकेंगे। मेला प्रतिदिन प्रात: 9.30 बजे से सांय 7.30 बजे तक खुला रहेगा। वाहन पार्किंग की सुविधा गेट नंबर एक के सामने भैरों मार्ग पर होगी। पार्किंग के लिये भुगतान करना होगा।

  

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.