आरक्षण चार्ट बनने के बाद पद्मावत एक्सप्रेस में लगा दिया एक्स्ट्रा कोच, पीएमओ ने मांगी रिपोर्ट

आरक्षण चार्ट बनने के बाद पद्मावत एक्सप्रेस में लगा दिया एक्स्ट्रा कोच, पीएमओ ने मांगी रिपोर्टमामले में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है।

लखनऊ। पद्मावत एक्सप्रेस में आरक्षण चार्ट बनने के बाद एक्स्ट्रा कोच लगाने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है।इस मामले में रेलमंत्री पीयूष गोयल से रिपोर्ट तलब की है। अब मामले की जांच के लिए रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक सोमवार को लखनऊ पहुंचेंगे। इस बीच रेलवे ने एक्स्ट्रा कोच लगाने के लिए दीपावली और छठ पर यात्रियों की भीड़ की दलील दी है।

ये भी पढ़ें- रेल यात्रा के दौरान लगेज बुक न कराना पड़ सकता है भारी, कहीं भुगतना न पड़े ख़ामियाज़ा

राजधानी लखनऊ से दिल्ली की ओर जाने वाली ट्रेनों में शनिवार को काफी भीड़ थी। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के पीएस विनय श्रीवास्तव को भी दिल्ली जाना था। साथ में उनकी पत्नी विनीता श्रीवास्तव भी थीं, जो इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर द आर्ट्स की जॉइंट सेक्रटरी हैं। दोनों को एसी एक्सप्रेस (12429) से जाने वाले थे, लेकिन वीआईपी कोटे में रेल मंत्रालय से ही अधिक डिमांड होने के कारण उन्हें जगह नहीं मिल सकी। इसके बाद रेल अधिकारियों ने पद्मावत एक्सप्रेस में एक्स्ट्रा कोच लगा दिया।

ये भी पढ़ें- जीआरपी या आरपीएफ को नहीं है रेल यात्रियों के टिकट चेक करने का अधिकार

फर्स्ट कम सेकंड एसी के कम्पोजिट कोच में विनय श्रीवास्तव और विनीता श्रीवास्तव को जगह मिल गई। इसके बाद टीटीई ने रास्ते में कोच की खाली बर्थ पर वेटिंग के यात्रियों को शिफ्ट कर दिया। इससे 25 यात्रियों से रेलवे को करीब 28,000 रुपये की आमदनी हुई, लेकिन यह मामला संज्ञान में आने पर पीएमओ ने रेलमंत्री पीयूष गोयल से रिपोर्ट तलब कर ली है। उधर उत्तरी रेलवे के अधिकारियों का तर्क है कि दिल्ली से छठ की भीड़ अधिक थी। इस कारण लखनऊ से एक्स्ट्रा कोच लगाया गया। वापसी में यह कोच फुल था। रेलवे ने अब इस कोच के नियमित उपयोग की बात कही है।

खेती और रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top