IRCTC ने SBI और ICICI सहित छह बैंकों के कार्ड किए बैन, अब नहीं होगी इन कार्ड से टिकट बुक

IRCTC ने SBI और ICICI सहित  छह बैंकों के कार्ड किए बैन, अब नहीं होगी इन कार्ड से टिकट बुकआईआरसीटीसी

नई दिल्ली। आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर अब एसबीआई और आईसीआईसीआई समेत छह अन्य बैंकों के कार्ड से टिकट बुक नहीं किए जा सकेंगे। बैंकों और आईआरसीटीसी के बीच सुविधा शुल्क को लेकर झगड़ा इस स्तर पर पहुंच गया कि अब कई बैंकों के कार्ड को आईआरसीटीसी ने बैन कर दिया है। बैंकों का आरोप है कि आईआरसीटीसी ने यह कदम इसलिए उठाया है कि वह पूरा सुविधा शुल्क खुद रखना चाहती है।

इन बैंकों के चलेंगे कार्ड

अब केवल इंडियन ओवरसीज बैंक, कैनरा बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक के कार्ड के जरिए ही आप ऑनलाइन टिकट बुक कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें:- महामना एक्सप्रेस : हर कोच में लगी हैं एलईडी लाइट्स, ऊपरी बर्थ पर चढ़ने के लिए ख़ास तरह की सीढ़ियां

सर्विस टैक्स को लेकर झगड़ा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईआरसीटीसी ने बैंकों से मिलने वाले सुविधा शुल्क को उसके साथ बांटने के लिए कहा था, जिस पर बैंकों ने आपत्ति जताई थी। माना जा रहा था कि भारतीय बैंक संगठन, आईआरसीटीसी और भारतीय रेलवे मिलकर इस मसले का हल निकाल लेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें:- रेल यात्रा के दौरान लगेज बुक न कराना पड़ सकता है भारी, कहीं भुगतना न पड़े ख़ामियाज़ा

कुछ महीनों से टिकट बुकिंग में शुरू हुई थी समस्या

कुछ महीनों से एसबीआई और आईसीआईसीआई समेत छह अन्य बैंकों के कार्ड से टिकट बुकिंग में समस्या आने लगी थी। कई लोगों ने इसकी शिकायत भी की थी। अब इसे आईआरसीटीसी के इस नए फैसले से जोड़कर देखा जा रहा है।

बैंक ने कही ये बात

बैंकों की ओर से इस मसले पर कहा गया कि सामान्य तौर पर जो मर्चेंट होता है वह संबंधित बैंक को पैसा देता है, लेकिन आईआरसीटीसी ने उन्हें कभी भी पैसा नहीं दिया, इस वजह से हम ये राशि ग्राहकों से वसूल रहे हैं। सालों से ये प्रक्रिया ऐसी ही चलती हुई आ रही है।

ये भी पढ़ें:- जीआरपी या आरपीएफ को नहीं है रेल यात्रियों के टिकट चेक करने का अधिकार

ज्यादा रकम के ट्रांजेक्शन पर एक फीसदी तक लगाया जाता है एमडीआर

मर्चेंट जो कार्ड बेस पेमेंट के लिए बैंक की सर्विस का इस्तेमाल करते हैं, उन्हें एक चार्ज बैंकों को देना होता है, जो मर्चेंट डिस्काउंट अमाउंट (एमडीआर) के रूप में जाना जाता है। बैंकों ने आईआरसीटीसी की मांग मानने से ये कहते हुए इनकार किया था कि मांग मानना मर्चेंट एक्वाइरिंग बिजनेस के सिद्धांतों का उल्लंघन होगा। वर्तमान में बैंकों को 1000 रुपए तक के कार्ड ट्रांजेक्शन पर 0.25 फीसदी और 1000 से 2000 रुपए के ट्रांजेक्शन पर 0.5 फीसदी मर्चेंट डिस्काउंट अमाउंट वसूलने की अनुमति है। ज्यादा रकम के ट्रांजेक्शन पर 1 फीसदी तक एमडीआर लगाया जाता है।

ये भी पढ़ें:- महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

ये भी पढ़ें:- कितना होगा बुलेट ट्रेन का किराया, कितनी होगी स्पीड, जानिए इससे जुड़ी सारी बातें...

ये भी पढ़ें:- कानपुर से आईआईटी की पढ़ाई फिर जापानी लड़की से शादी, अब मिला देश की बुलेट ट्रेन का जिम्मा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top