‘अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी और जीएसटी के प्रभाव का सटीक आकलन कर पाना मुश्किल’

‘अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी और जीएसटी के प्रभाव का सटीक आकलन कर पाना मुश्किल’अर्थव्यवस्था

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने आज कहा कि देश की संपूर्ण आर्थिक प्रगति कई कारकों पर निर्भर करती है और इसका सटीक कर पाना मुश्किल है कि नोटबंदी और जीएसटी का अर्थव्यवस्था पर क्या असर हुआ है।

लोकसभा में रवींद्र विश्वनाथ गायकवाड के प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त राज्य मंत्री पोन। राधाकृष्णन ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की संपूर्ण आर्थिक प्रगति कई कारकों पर निर्भर करती है जिसमें पूंजी निर्माण और बचत दर, प्रौद्योगिकी के उपयोग, अवसंरचाना की उपलब्धता, संसाधन आवंटन दक्षता, संस्थाओं की गुणवत्ता, मौजूदा अभिशासन एवं नीति संबंधी ढांचे, मुद्रा आपूर्ति और वित्तीय विकास की स्थिति शामिल है।

ये भी पढ़ें - गाँव कनेक्शन विशेष : नोटबंदी की मार से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लगा झटका

उन्होंने कहा कि इस बात का सटीक आकलन कर पाना मुश्किल है कि अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी और जीएसटी का क्या असर हुआ है। मंत्री ने कहा कि सरकार ने अर्थव्यवस्था की स्थिति को और मजबूत बनाने के लिए अनेक पहल की है जिनमें विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देना, परिवहन तथा शहरी एवं ग्रामीण बुनियादी ढांचे के लिए ठोस उपाय करना और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के लिए व्यापक सुधार करना शामिल हैं।

ये भी पढ़ें - कर्जमाफी से प्रभावित होगी देश की अर्थव्यवस्था, 2019 तक जीडीपी पर बोझ हो जाएगा 2 फीसद

Share it
Share it
Share it
Top