कुपवाड़ा में सेना के कैंप पर आतंकी हमला, तीन जवान शहीद, दो दिन पहले ही आतंकियों ने जारी किया था वीडियो

कुपवाड़ा में सेना के कैंप पर आतंकी हमला, तीन जवान शहीद, दो दिन पहले ही आतंकियों ने जारी किया था वीडियोLoC पर पाकिस्तान की नापाक कोशिश नाक़ाम, 1 आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर के कुपवाडा में सेना के कैंप पर गुरुवार तडके बडा आतंकी हमला हुआ। यह आतंकी हमला कुपवाडा के पंजगाम सेक्टर में स्थित सेना के कैंप पर हुआ। प्राप्त जानकारी के अनुसार चार आतंकियों ने सेना के कैंप पर सुबह 4 बजे हमला किया। हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए हैं। दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। जिस जगह आतंकियों ने हमला किया, वहां सेना की तोपें रखी जाती है, यानी आतंकियों ने सेना के तोपखाने पर हमला किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उच्चस्तरीय बैठक बुलायी है।

आतंकियों ने सुबह 5.15 बजे के आसपास आर्मी कैंप में घुसने की कोशिश की थी. सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया और दो आतंकियों को मार गिराया। इस हमले के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और तलाशी अभियान चला रही है।

शहीद होने वालों में एक कैप्टन, एक जेसीओ और एक जवान शामिल हैं. इसके अलावा 5 जवानों के शहीद होने की भी खबर है, घायल जवानों को श्रीनगर आर्मी अस्पताल में भर्ती करने के लिए एयरलिफ्ट किया गया है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने आईएएनएस को बताया, "नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास गुरुवार तड़के लगभग 4.30 बजे पंजगाम सैन्य शिविर पर फिदायीन हमला हुआ।" प्रवक्ता ने बताया, "इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए जिसमें एक कैप्टन और दौ गैर कमीशन अधिकारी हैं।" यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या आतंकवादी सैन्य शिविर में कहीं छिपे है या नहीं।

हमले में शहीद कानपुर के कैप्टन आयुष यादव के घर छाया मातम

आतंकी हमले में कानपुर के कैप्टन आयुष यादव भी शहीद हो गए हैं। बेटे के बलिदान की खबर मिलते ही उनके घर का माहौल गमगीन हो गया। मां का रो-रोकर बुरा हाल है और यूपी पुलिस में इंस्पेक्टर पिता अरुणकांत यादव भी बेटे के जाने पर बदहवास हैं। कानपुर के डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले अरुण के सिर पर एकलौते बेटे के शहीद होने का गम काफी भारी पड़ा है। उनका कहना है कि आखिर कब तक सरकार ऐसे ही सैनिक मरवाती रहेगी मैंने तो अपना बेटा खो दिया।

उनके पिता ने कहा कि मैंने कहा कि वह पर पत्थर चल रहे है तो उसने हंसते हुए कहा कि मैं कुपवाड़ा कैम्प में हूं आप लोग क्यों चिंता करते हो पिता ने रोते हुए सरकार से एक सवाल पूछा है .

30 आतंकियों ने डेढ़ मिनट के वीडियो में बताए थे अपने नापाक मंसूबे

दो दिन पहले ही आतंकियों ने एक ऐसा वीडियो जारी किया था जिससे बाद से सरकार और सुरक्षा एजेंसियां दोनों की नींद उड़ गई है। वीडियो के आने के बाद ऐसा माना जा रहा है कि कश्मीर घाटी में अपने मंसूबों को अंजाम देने के लिए लश्कर और हिजबुल के आकाओं ने हाथ मिला लिया है। आतंकियों द्वारा जारी किए गए एक मिनट 30 सेकेंड के इस वीडियो में 30 आतंकी अत्याधुनिक हथियारों के साथ नजर आ रहे थे। वीडियो में आतंकियों की आवाज को हटा कर आजादी के तराने की धुन डाल दी गई थी। आतंकी बारी-बारी से कैमरे के सामने अपने हथियारों के आते हैं और नारा लगाते दिखाई दे रहे थी। देखें वीडियो-

Share it
Top