जाधव मामला: आईसीजे में पाकिस्तानी टीम का नेतृत्व करेंगे अटॉर्नी-जनरल

जाधव मामला: आईसीजे में पाकिस्तानी टीम का नेतृत्व करेंगे अटॉर्नी-जनरलकुलभूषण जाधव।

इस्लामाबाद (भाषा)। पाकिस्तान के अटॉर्नी-जनरल अश्तर औसाफ अली आगामी आठ जून को हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में टीम का नेतृत्व करेंगे जहां भारत और पाकिस्तान के ‘एजेंट' भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में आगे की कार्यवाहियों पर चर्चा के लिए आईसीजे के प्रमुख से मुलाकात करेंगे।

समाचार पत्र ‘डॉन' के अनुसार राष्ट्रीय सुरक्षा मामले की संसदीय समिति की कल हुई बैठक में अटॉर्नी-जनरल को इस मामले में पाकिस्तान की रणनीति पर चर्चा के लिए भेजने का फैसला किया गया। नेशनल स्पीकर अय्याज सादिक ने इस बैठक की अध्यक्षता की। अखबार के अनुसार ‘एजेंटों' की बैठक के दौरान उन तरीखों के बारे में चर्चा होगी जब जाधव के मामले में सुनवाई होगी और संबंधित दस्तावेज सौंपे जाएंगे।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पाकिस्तान इस मामले में लिए कार्यवाहक न्यायाधीश नामिक करने के अपना इरादा जता सकता है। आईसीजे में यह प्रावधान है कि किसी मामले में पीठ में अपनी नागरिकता वाला न्यायाधीश नहीं होने पर व्यक्ति को कार्यवाहक न्यायाधीश के रुप में बैठने के लिए चुन सकता है। जाधव को पाकिस्तानी सैन्य अदालत द्वारा सुनाई गई मौत की सजा के खिलाफ भारत ने आईसीजे का रुख किया था। बीते 18 मई को आईसीजे ने जाधव (46) की सजा के तामील पर रोक लगा दी थी।

अटॉर्नी-जनरल ने समिति की बैठक में भाग लेने वालों को इस मामले में पाकिस्तान सरकार की रणनीति के बारे में जानकारी दी। खबर है कि समिति के सदस्य सरकार की कानूनी टीम की ओर से पिछली बैठक में दिए गए स्पष्टीकरण से खुश नहीं थे। स्पीकर ने कहा कि कल अटॉर्नी-जनरल की ओर से दी गई जानकारी से वह संतुष्ट हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.