‘जम्मू-कश्मीर आतंकवाद के आखिरी दौर से गुजर रहा’

‘जम्मू-कश्मीर आतंकवाद के आखिरी दौर से गुजर रहा’केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह

जम्मू (भाषा)। केंद्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने आज कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद अपने आखिरी दौर में है और आतंकवादी भागते फिर रहे हैं।

सिंह ने कहा, ''वे (आतंकवादी) भागते फिर रहे हैं और जबरदस्त दबाव में हैं। मैं आश्वस्त हूं कि यह जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का आखिरी चरण होने जा रहा है।'' सिंह कश्मीर घाटी में आतंकवादियों को मार गिराने पर सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, ''पुलिस और सुरक्षा बल सराहनीय कार्य कर रहे हैं। इससे भी ज्यादा उल्लेखनीय यह है कि जम्मू कश्मीर पुलिस का विशेष कार्वाई समूह इन अभियानों में सहयोग कर रहा है और कंधे से कंधा मिला कर काम कर रहा है।'' मंत्री ने कहा कि सुरक्षा बल सुरक्षा हालात में एक सराकात्मक बदलाव लाने में सफल रहे हैं।

ये भी पढ़ें- बिहार को 3769 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात

उन्होंने कहा कि हर आतंकवादी का जीवनकाल कम हुआ है। राज्य में आतंकवाद को बनाए रखने के बारे में पाकिस्तान की हताशाजनक कोशिश से जुड़े सवालों का जवाब देते हुए सिंह ने कहा, ''यह उनकी (पाकिस्तान की) बेबसी और नाउम्मीदी बयां करता है।'' उन्होंने कहा, ''जितने समय तक पाकिस्तान इनकार की मुद्रा में रहेगा, वह उतना ही अधिक अपनी सुरक्षा और अपने अस्तित्व को जोखिम में डालेगा।''

रोहिंग्या प्रवासियों के मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय के फैसले पर मंत्री ने कहा कि जहां तक भाजपा और सरकार की बात है, हम इस बारे में बहुत स्पष्ट हैं, हम सभी के लिए सुरक्षा का मुद्दा चिंता का मुख्य विषय है, इसमें हममें से वे लोग भी शामिल हैं जो जम्मू कश्मीर में हितधारक हैं। राज्य में रोहिंग्या समुदाय के लोगों की अच्छी खासी आबादी है।

ये भी पढ़ें- बिहार से पीएम मोदी का ऐलान, 2022 तक देश की 20 यूनिवर्सिटी को बनाएंगे वर्ल्ड क्लास

उन्होंने कहा कि यह मतलब निकालना सही नहीं होगा कि रोहिंग्या को भारत से वापस नहीं भेजा जाएगा। मंत्री ने कहा, ''उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि सुरक्षा चिंताएं हैं और साथ ही मानवीय पहलू भी है जिसे ध्यान में रखना होगा।'' लड़के एवं लडकियों की सह शिक्षा पर मजलिस ए शौरा के फतवे पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए मंत्री ने कहा कि जहां तक हमारी बात है, सब के लिए न्याय की नीति और किसी का तुष्टिकरण नहीं करने में हम यकीन रखते हैं।

एक सरकारी पोस्टर में अलगाववादी नेता असिया अंदराबी की तस्वीर दिखने पर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार ने इस पर गंभीर संज्ञान लिया और कार्वाई भी की। मंत्री ने यह भी कहा कि इस साल के आखिर में गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस तुच्छ मुद्दे उठा रही है।

ये भी पढ़ें- वरुण गांधी का चुनाव आयोग पर हमला, कहा- बिना दांत का शेर है चुनाव आयोग

साथ ही, उन्होंने कहा कि जहां तक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनके बेटे से जुड़ा मुद्दा है, शाह के बेटे ने अदालत का रुख कर मानहानि का मुकदमा किया है।

ये भी पढ़ें- म्यांमार रोहिंग्या संकट – क्या होनी चाहिए भारत की विदेशनीति

Share it
Top