जम्मू एवं कश्मीर : भारी गोलीबारी के चलते सीमावर्ती गाँवों के करीब 900 लोगों ने छोड़ा घर

जम्मू एवं कश्मीर : भारी गोलीबारी के चलते सीमावर्ती गाँवों के करीब 900 लोगों ने  छोड़ा घरभारत पाकिस्तान सीमा रेखा पर भारी गोलाबारी के बाद सुरक्षित स्थानों की ओर जाते ग्रामीण।

अमित शर्मा

जम्मू । जम्मू एवं कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा से सटे इलाकों में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी के बाद नौशेरा सेक्टर के सीमावर्ती गांवों से 900 से अधिक लोगों ने सुरक्षित स्थानों पर शरण ली है। जिला प्रशासन ने इसमें उन्हें मदद दी।

पाकिस्तानी रेंजरों ने राजोरी के परयाली, मंजाकोट और राजधानी क्षेत्रों में भारी गोलीबारी की है जो जारी है। वहीं नौशहरा के कलसियां, बाबखोड़ी, झांगर और शेरमकड़ी इलाकों की फारवर्ड पोस्टों पर भी गोलीबारी जारी है।

एक अधिकारी ने कहा, "नौशेरा से 900 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है। इन लोगों के लिए तीन शिविर बनाए गए हैं। नौशेरा सेक्टर में रविवार को गोलीबारी नहीं हुई है।"

अधिकारी ने कहा, "हालांकि, आज सुबह राजौरी जिले के मांजकोट और केरी सेक्टरों में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी हुई, लेकिन इसमें अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।"

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बीते पांच दिनों में नौशेरा क्षेत्र में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी गोलीबारी में तीन नागरिकों की मौत हुई है और नौ अन्य लोग घायल हुए हैं।

26 गाँव गोलाबारी से प्रभावित

गोलीबारी के चलते लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रह है। जानकारी के अनुसार नौशहरा के 26 गाँव गोलीबारी से प्रभावित हैं जिनके लिए चार विस्थापित शिविर बनाए गए हैं जबकि 26 और बनाए जाएंगे अगर ज्यादा विस्थापन होता है तो। इस बारे में राजोरी के डीसी शाहीद इकबाल चौधरी ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top