जावड़ेकर ने CBSE स्कूलों में नियामक तंत्र का संकेत दिया    

जावड़ेकर ने CBSE स्कूलों में नियामक तंत्र का संकेत दिया     मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर।

पुणे (भाषा)। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने सीबीएसई स्कूलों में नियामक तंत्र की जरुरत पर जोर देते हुए कहा कि जहां तक शिक्षा की गुणवत्ता और ‘‘अनुचित'' फीस लेने का सवाल है तो स्कूलों को ‘‘जवाबदेह'' बनाया जाएगा।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जावडेकर ने कहा, ‘‘देश में सीबीएसई स्कूल हैं और मैं शिक्षा के क्षेत्र में निजी निवेश का स्वागत करता हूं क्योंकि शिक्षा की गुणवत्ता की जरुरत है। यद्यपि यह प्रकाश में आया है कि सम्बद्धता हासिल करने के बाद इन सीबीएसई स्कूलों पर कोई रोक नहीं होती।'' उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक कि राज्य सरकार के अधिकारी भी सीबीएसई स्कूलों में नहीं जाते। मैं इस पर रोक लगाउंगा और जवाबदेही होगी क्योंकि इन स्कूलों को अच्छी शिक्षा देने के साथ ही उचित फीस लेनी होगी।''

जावडेकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से आयोजित दो दिवसीय पश्चिम क्षेत्र कार्यशाला का उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे। कार्यशाला का उद्देश्य स्कूली शिक्षा के लिए नवाचार और सर्वश्रेष्ठ तरीकों को साझा करना था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top