झारखंड के बहुचर्चित नीरज हत्याकांड वांछित चंदन सिंह गिरफ्तार

झारखंड के बहुचर्चित नीरज हत्याकांड वांछित चंदन सिंह गिरफ्तारक्रिमिनल चंदन सिंह।

लखनऊ। धनबाद के कांग्रेस नेता अैर पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह सहित चार लोगों की सनसनीखेज हत्या में वांछित सुपारी किलर चंदन उर्फ रोहित सिंह को उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने वाराणसी में गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्त चंदन सिंह बलिया जिले के थाना बैरिया के रहने वाले महिधर सिंह का पुत्र है। 32 बोर की पिस्टल, चार जिन्दा कारतूस, दो खोखा कारतूस, एक रिजर्वेशन टिकट और 400 रुपए नकद बरामद किया गया है। एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त चंदन सिंह ने नीरज सिंह हत्याकाण्ड में शामिल होने की बात स्वीकार कर ली है।

झारखंड के धनबाद शहर में इसी साल 211 मार्च को थाना-सरायढेला क्षेत्र में पूर्व डिप्टी मेयर और कांग्रेस नेता नीरज सिंह और उनके चालक घोल्टूमाहतो, अंगरक्षक मुन्ना तिवारी, निजी सहायक अशोक यादव की दिनदहाड़े सनसनीखेज हत्या कर दी गई थी। इस घटना में बदमाशों की तरफ से 100 से अधिक राउण्ड फायर किए गए थे। घटना के समय नीरज सिंह अपने साथियों के साथ चार पहिया वाहन से घर जा रहे थे। रास्ते में बदमाशों ने स्पीड ब्रेकर पर घात लगाकर जानलेवा हमला किया गया था।

संबंधित खबर : कांग्रेस नेता हत्याकांड का खुलासा, दो शूटर गिरफ्तार

इस हाईप्रोफाइल हत्याकांड में धनबाद के थाना-सरायढेला में नीरज सिंह के परिजनों की तरफ से मृतक नीरज सिंह के चचेरे भाई और झरिया के बीजेपी विधायक संजीव सिंह, जयनेन्द्र सिंह, गया सिंह, महन्त पाण्डेय और सिद्धार्थ गौतम के खिलाफ नामजद मामला दर्ज कराया गया था। घटना में संजय सिंह, धनजी सिंह और डब्लू मिश्रा का नाम भी सामने आया था, लेकिन घटना में इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले शूटरों का पता नहीं चल सका था।

एसटीएफ यूपी ने आरोपियों को पकड़ने के लिए गठित की थी टीम

स्थानीय पुलिस ने जब इस मामले की छानबीन की तो पला चला कि इस घटना को अंजाम देने वाले शूटर उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। इस पर धनबाद के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश पुलिस की एसटीएफ टीम से सहयोग मांगा था। इसके बाद एसटीएफ उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने एसटीएफ के अपर पुलिस अधीक्षक आनन्द और ज्ञानेन्द्र नाथ प्रसाद को इस मामले में शामिल अपराधियों को पकड़ने का जिम्मा दिया था। जिसके बाद से एसटीएफ वाराणसी के फिल्ड निरीक्षक शैलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर घटना के खुलासे और शूटरों की गिरफ्तारी के लिए काम शुरू हुआ था।

इस मामले में जब एसटीएफ की टीम ने कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के मोबाइल के काल डिटेल और उसकी जांच शुरू की तो इसी दौरान एसटीएफ टीम को तीन मई को घटना में शामिल अभियुक्त अमन सिंह को उसके एक साथी सहित गिरफ्तार कर घटना में शामिल अन्य शूटरों को चिन्हित किया गया। अमन सिंह से हुई पूछताछ पर यह जानकारी प्राप्त हुई थी कि इस घटना में और 4 शूटर शामिल थे। इसी कारण उनकी सही स्थिति नहीं पता चल पा रही थी। अमन सिंह से प्राप्त सूचनाओं को विकसित कर एसटीएफ ने 23 जून को अभियुक्त कुर्बान अली उर्फ सोनू को वाराणसी से और सागर सिंह उर्फ सीबू को 24 जून को प्रतापगढ़ से गिरफ्तार किया गया। इन गिरफ्तारियों बाद बाकी बचे शूटरों की एसटीएफ तलाश कर रही थी।

चंदन झांसी जेल में बंद मुन्ना सिंह के करीबी रूपेश का भाई है

इस दौरान पुलिस को पता चला कि इस घटना में शामिल एक शूटर भी वाराणसी का ही रहने वाला है, लेकिन किसी अन्य प्रदेश में छिप कर रह रहा है। इस शूटर के संबंध में धनबाद पुलिस से भी संपर्क स्थापित कर उसके हुलिया और उम्र से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त की गई थी। जिसके बाद इस घटना में गिरफ्तार किए गए शूटरों से पूछताछ के आधार पर एक शूटर को चन्दन सिंह उर्फ रोहित सिंह के रूप में चिन्हित किया गया। इसी दौरान मुखबिर के माध्यम से जानकारी प्राप्त हुई कि यह अपराधी हाल ही में वाराणसी आया है, जो झॉसी जेल में बंद माफिया मुन्ना बजरंगी के करीबी ओर सहयोगी रूपेश सिंह का भाई है। रूपेश सिंह की मौत ने 2005 में एसटीएफ के साथ हुई एक मुठभेड़ के दौरान हो चुकी है।

संबंधित खबर : मुन्ना बजरंगी ने जेल से सिंचाई विभाग के इंंजीनियर से मांगी रंगदारी

इसी दौरान मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली कि अपराधी चन्दन सिंह 9 जुलाई को सुबह लगभग 6 बजे वाराणसी के थाना-कैन्ट क्षेत्र में स्थिति सेंट मेरी स्कूल के पास अपने किसी साथी से मिलने आएगा। इस सूचना पर निरीक्षक शैलेश प्रताप सिंह के नेतृत्व में एसटीएफ टीम ने इस जगह पर पहुंचकर अपनी उपस्थिति छिपाते हुए घेराबन्दी की। थोड़ी देर बाद एक संदिग्ध व्यक्ति वहं पहुंचचा और किसी की प्रतीक्षा करने लगा।

मुखबिर की तरफ से इस व्यक्ति की पुष्टि चन्दन सिंह के रूप में किए जाने पर एसटीएफ की टीम ने उसे गिरफ्तार करने का प्रयास किया गया तो उसकी तरफ से एसटीएफ टीम को लक्ष्य बनाकर जान मारने की नीयत से फायरिंग करना शुरू कर दिया। एसटीएफ टीम ने साहस का परिचय देते हुए आवश्यक बल प्रयोग कर अभियुक्त चन्दन सिंह को गिरफ्तार किया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top