कारगिल विजय दिवस : वो तस्वीरें जो भारतीय सेना के संघर्ष की कहानी बयां करती हैं

कारगिल विजय दिवस : वो तस्वीरें जो भारतीय सेना के संघर्ष की कहानी बयां करती हैंकारगिल विजय दिवस

लखनऊ। साल 1999 का वक्त था, करगिल की पहाड़ियों पर पाकिस्तानी घुसपैठियों ने कब्जा जमा लिया था। सेना को जब इस बात का पता चला तो सेना ने उन्हें खदेड़ने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया। यह ऑपरेशन आठ मई को शुरू हुआ और 26 जुलाई को खत्म हुआ, जिसमे सेना के 527 जवान शहीद हुए और करीब 1363 जवान घायल हुए। इतने बलिदानों के बाद भारतीय सेना ने कारगिल में तिरंगा फहराया था, तब से हर साल इस दिन कारगिल विजय दिवस के तौर पर मनाया जाता है।

इस 'कारगिल विजय दिवस' के विशेष मौके पर हम आपको कुछ ऐसी तस्वीरें दिखाने जा रहे हैं, जो कारगिल युद्ध के दौरान भारतीय सेना के संघर्ष की कहानी बयां करती हैं।

ये भी पढ़ें : हार्ट अटैक और डायबिटीज से बचाएगी इस गेहूं की रोटी

पाकिस्तान की सेना और कश्मीरी उग्रवादियों ने भारत और पाकिस्तान के बीच की नियंत्रण रेखा पार करके भारत की ज़मीन पर कब्ज़ा करने की कोशिश की।

ये भी पढ़ें : अगर धान की फसल से अधिक पैदावार चाहिए तो हमेशा ध्यान रखें ये चार सिद्धांत

पाकिस्तान ने दावा किया कि लड़ने वाले सभी कश्मीरी उग्रवादी हैं, लेकिन युद्ध में बरामद हुए दस्तावेज़ों और पाकिस्तानी नेताओं के बयानों से साबित हुआ कि पाकिस्तान की सेना प्रत्यक्ष रूप में इस युद्ध में शामिल थी।

भारतीय सेना और वायुसेना ने पाकिस्तान के कब्ज़े वाली जगहों पर हमला किया और धीरे-धीरे अंतर्राष्ट्रीय सहयोग से पाकिस्तान को सीमा पार वापिस जाने को मजबूर किया।

ये भी पढ़ें : अपनी कार और बाइक के एवरेज को लेकर परेशान रहते हैं, ट्रेन का जान हैरान रह जाएंगे

यह युद्ध ऊँचाई वाले इलाके पर हुआ और दोनों देशों की सेनाओं को लड़ने में काफ़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

परमाणु बम बनाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ यह पहला सशस्त्र संघर्ष था।

ये भी पढ़ें : ओबामा सरकार से भारत की गहरी दोस्ती का इस तरह हो रहा है फायदा

ये भी पढ़ें : देश के ये 24 संरक्षित स्मारक हो गए हैं 'ग़ायब'

ये भी पढ़ें : 21 वर्ष तक 2 रुपए के नोट में छाया रहा राव का आर्यभट्ट सैटेलाइट

ये भी पढ़ें : अगर आप मुर्गा खाते हैं तो संभल जाइए , एंटीबायोटिक दवाएं हो सकती हैं बेअसर

ये भी पढ़ें:- देश का पहला सैटेलाइट बनाने वाले वैज्ञानिक का निधन, जानें उनके जीवन की अनसुनी बातें

ये भी पढ़ें:- एलोवेरा की खेती का पूरा गणित समझिए, ज्यादा मुनाफे के लिए पत्तियां नहीं पल्प बेचें, देखें वीडियो

ये भी पढ़ें:- 'मोदी की फसल बीमा योजना से इंश्योरेंस कंपनियों को 10,000 करोड़ का लाभ'

भारतीय सेना ने 26 जुलाई को कारगिल में तिरंगा फहराया था।

ये भी पढ़ें : सस्ती तकनीक से किसान किस तरह कमाएं मुनाफा, सिखा रहे हैं ये दो इंजीनियर दोस्त

यह भी पढ़ें : सरकारी नौकरी छोड़ अब एलोवेरा की खेती से सालाना कमाते हैं दो करोड़

Share it
Share it
Share it
Top