खतरनाक: कश्मीर के 50 युवाओं ने इस साल थामा आंतकवाद का हाथ 

खतरनाक: कश्मीर के 50 युवाओं ने इस साल थामा आंतकवाद का हाथ आतंकवादी। प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली (भाषा)। विभिन्न आतंकवादी संगठनों द्वारा कश्मीरी युवाओं को आतंकवाद की राह में ढकेलने की साजिश आखिरकार कामयाब होती जा रही है। हालिया आंकड़ों पर गौर करें तो जम्मू कश्मीर में 50 स्थानीय युवाओं ने इस साल अब तक आतंकवादी संगठनों का दामन थाम लिया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने आज बताया कि इस साल के शुरुआती छह महीनों में कम से कम 50 युवक आतंकवादी गुटों में शामिल हुए हैं। इनमें से अधिकांश युवक आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल हुए। मंत्रालय के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि कश्मीर में सक्रिय 220 से अधिक आतंकवादियों में से 50 प्रतिशत से अधिक पाकिस्तानी नागरिक हैं।

2013 के बाद आतंकवाद का दामन थामने वाले नौजवानों की संख्या बढ़ी

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 में 88 कश्मीरी नौजवान आतंकवादी संगठनों में शामिल हुए थे। यह पिछले छह सालों में सर्वाधिक संख्या थी। साल 2010 में यह संख्या 54 थी और साल 2011 में यह घटकर 23, साल 2012 में 21 और साल 2013 में 16 रह गयी।

19 आतंकवादी घुसपैठ में हुए हैं कामयाब

मंत्रालय के घुसपैठ से जुड़े आंकड़ों के मुताबिक 115 आतंकवादियों ने इस साल जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पार कर घुसपैठ की कोशिश की है। इनमें से 19 आतंकवादी घुसपैठ में कामयाब भी रहे, जबकि पिछले साल घुसपैठ की 370 कोशिशों में से 119 में आतंकवादियों को कामयाबी मिली थी।

संबंधित खबर : भारत से अब तक चोरी हो चुकी हैं अरबों रुपये की 50 हजार मूर्ति, इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकी संगठन करवाते हैं चोरी

संबंधित खबर : लश्कर का आतंकी सलीम 7 दिन की पुलिस कस्टडी में

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top