कश्मीर के युवाओं को टूरिज्म की ताकत को पहचाना होगा

कश्मीर के युवाओं को टूरिज्म की ताकत को पहचाना होगाऊधमपुर में रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ऊधमपुर में बने एशिया की सबसे लंबी चेनानी-नाशरी सुरंग का उद्घाटन किया। इस दौरान वह सुरंग के अंदर जीप से यात्रा की। इसके साथ ही इसमें कुछ कदम पैदल भी चले। यह सुरंग जम्मू एवं कश्मीर के ऊधमपुर और रामबन जिलों को जोड़ती है। इस सुरंग के जरिए रणनीतिक जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के 30 किलोमीटर लंबे खतरनाक, दुर्गम मार्ग से बचा जा सकेगा।

इस दौरान आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ' कश्मीर के लोगों के लिए यह सुरंग वरदान है। कश्मीर के लोगों को अब अपने फल, फूल और सब्जियों को आसानी से बड़े मार्केट में पहुंचाने में आसानी होगी। केंद्र सरकार कश्मीर के विकास से लिए जी जान से लगी है।

पिछले साल केंद्र ने जम्मू-कश्मीर के लिए 80 हजारा करोड़ रुपए जारी किए थे। लेकिन कुछ नामुराद लोग कश्मीर के युवाओं को गुमराह करने में लगे हैं। मैं कहना चाहता हूं, कश्मीर के युवाओं के पास अपना भविष्य संवारने के दो रास्ते हैं, पहला टूरिज्म और दूसरा टेररिज्म। अब आपको फैसला करना है, कौन रास्ता चुनना चाहते हैं।

करीब 40 साल से कश्मीर में हजारों निर्दोंशों की जान गई है। हजारों माताओं की गोद सूनी हुई है। इस खून के खेल से किसी का भला नहीं हुआ, लेकिन यही 40 साल टूरिज्म को दे दिया होता तो पूरी दुनिया में कश्मीर की धमक होती। कश्मीर के युवाओं को टूरिज्म की ताकत को पहचाना होगा।

Share it
Share it
Share it
Top