मप्र में किसानों की मौत भाजपा की दमनकारी नीतियों का परिणाम: मायावती

मप्र में किसानों की मौत भाजपा की दमनकारी नीतियों का परिणाम: मायावतीमायावती

नई दिल्ली (भाषा)। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने मध्य प्रदेश में किसानों पर पुलिस की बर्बर कार्रवायी की निंदा करते हुये इसे भाजपा की दमनकारी नीतियों का परिणाम बताया।

बसपा की ओर से आज जारी मायावती के बयान में कहा गया है कि मध्य प्रदेश में निर्दोष किसानों पर पुलिस की गोलीबारी में छह किसानों की मौत न सिर्फ दुखद है बल्कि राज्य सरकार के किसान, मजदूर और गरीबों के प्रति दमनचक्र को भी दर्शाती है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार और भाजपा शासित राज्यों में दलित, अल्पसंख्यक, मजदूर गरीब और किसान विरोधी गतिविधियों का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

ये भी पढ़ें : मध्यप्रदेश हिंसा: सोशल मीडिया में कोई किसान तो कोई पुलिस को बता रहा जिम्मेदार, देखिए दिल दहला देने वाले वीडियो

मायावती ने कहा कि देश भर में भूमि अधिग्रहण के नाम पर किसानों की जमीन उद्योगपतियों को लगातार हस्तांतरित किये जाने के कारण किसानों का असंतोष आंदोलन के रुप में सड़कों पर आज दिख रहा है। इसे दबाने की कोशिश के फलस्वरुप मंदसौर जैसी घटनायें विभिन्न राज्यों में पिछले तीन सालों से लगातार हो रही है।

ये भी पढ़ें : मंदसौर पर महाभारत: किसान आंदोलन के बहाने एक-दूसरे को घेरने में जुटे नेता

बसपा प्रमुख ने पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई के नेताओं को पीड़ित किसान परिवारों की हरसंभव मदद मुहैया कराने का निर्देश देते हुये कहा कि वह स्वयं पीडित परिवारों से मिलकर अपनी संवेदना व्यक्त करना चाहती हैं, लेकिन कानून व्यवस्था के नाम पर राज्य सरकार विपक्ष के नेताओं को किसानों से मिलने की अनुमति नहीं दे रही है।

ये भी पढ़ें : मध्यप्रदेश : और उग्र हुआ किसान आंदोलन, पढ़िए पूरा अपडेट

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top