Top

कोलकाता के 'रोसोगुल्ला दिवस' के बाद अब फ़ूड ट्रक और कबाब गली के साथ राजधानी दिल्ली फूड फेस्टिवल की तैयारी में

खानपान महोत्सव 'हॉर्न ओके प्लीज़' के चौथे संस्करण का शुभारंभ दिल्ली में16 नवंबर से शुरू होगा जिसमें पूरे शहर से लजीज व्यंजनों की 150 से अधिक प्रवष्ठियिां शामिल होने वाली हैं। तरह-तरह के चटपटे और लाजवाब भोजन के लिए प्रसिद्द दिल्ली में आयोजित इस महोत्सव में विस्तृत रूप से व्यवस्थाएं होंगी।

कोलकाता के

14 नवंबर को पश्चिम बंगाल सरकार ने रसगुल्ले को भौगोलिक पहचान (जीआई टैग) मिलने के एक साल पूरा होने पर बुधवार को "रसगुल्ला दिवस" आयोजित किया गया और दूसरी और राजधानी दिल्ली में 16 नवंबर से शुरू होने वाले खानपान महोत्सव की तैयारी ज़ोरो पर है।

यह भी पढ़ें: Festive Food: Orange Rasgullas

रसगुल्ले को "पश्चिम बंगाल का रोसोगोल्ला" जीआई टैग मिला है। न्यू टाउन क्षेत्र में इको पार्क के एक हस्सिे में बनाए गए "मिष्ठी हब" में लगाए गए विभिन्न स्टालों पर रसगुल्लों के विभिन्न प्रकारों को प्रदर्शित किया गया, जिसके बारे में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने ट्विटर पर लिखा, 'बंगलार रोसोगोल्ला (बंगाली रसगुल्ला) को आज ही के दिन पिछले साल जीआई टैग (भौगोलिक पहचान) मिला था। हम इस मधुर अवसर को कोलकाता के मिष्ठी हब में रसगुल्ला दिवस के रूप में मना रहे है। सभी का स्वागत है। पिछले साल 14 नवंबर को पश्चिम बंगाल को रसगुल्ले के लिए जीआई टैग मिला था। जीआई टैग एक चिह्न है जो एक विशेष स्थान से उत्पन्न होने वाले उत्पाद की पहचान करता है।


हार्न ओके प्लीज़: फ़ूड फेस्टिवल

खानपान महोत्सव 'हॉर्न ओके प्लीज़' के चौथे संस्करण का शुभारंभ दिल्ली में16 नवंबर से शुरू होगा जिसमें पूरे शहर से लजीज व्यंजनों की 150 से अधिक प्रवष्ठियिां शामिल होने वाली हैं। तरह-तरह के चटपटे और लाजवाब भोजन के लिए प्रसिद्ध दिल्ली में आयोजित इस महोत्सव में विस्तृत रूप से व्यवस्थाएं होंगी।


उबर ईट्स और मैगी द्वारा यहां जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित इस महोत्सव में एक फूड ट्रक पार्क, एक कबाब गली पार्क और चाइना टाउन जोन होगा। उत्सव के आयोजक दिगन्त शर्मा ने डेजर्ट जोन (मिष्ठान क्षेत्र) में घर पर बनी मिठाई और स्थान विशेष के अनुरूप कुछ अलग स्थान रखने वाली मिठाइयों को शामिल होने की जानकारी भी दी है।

16 नवम्बर को शुरू होकर यह उत्सव 18 नवंबर तक चलेगा।

यह भी पढ़ें: इस सर्दी आजमाइए आंवला, हल्दी और अदरक का अचार

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.