सौ साल की महिला ने बैंकखाते से लिंक करवाया अपना आधार 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   30 Oct 2017 6:23 PM GMT

सौ साल की महिला ने बैंकखाते से लिंक करवाया अपना आधार कोलकाता में एक महिला (100 वर्ष) जिसने अपने बैंक खाते को आधार से जोड़ा।

कोलकाता। केंद्र सरकार की योजनाओं का फायदा उठाने के लिए आधार कार्ड अब लगभग जरूरी हो गया है। केंद्र सरकार की आधार कार्ड लिंक योजना को आज उस वक्त बल मिला जब एक 100 साल की महिला ने अपने आधार कार्ड को अपने बैंक खाते से लिंक किया।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में आज सौ साल की महिला ने अपने एचडीएफसी बैंक खाते से अपने आधार कार्ड को लिंक कराया। यह उसी कोलकाता की कहानी हैै जहां पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार को खुलेआम ललकारते हुए कहा था कि वह अपना मोबाइल फोन आधार कार्ड से लिंक नहीं कराएंगी चाहे मेरा मोबाइल बंद ही क्यों न हो जाए।

आधार को अनिवार्य बनाने संबंधी केंद्र के कदम को चुनौती देने वाली याचिका को लेकर ममता बनर्जी सरकार की खिंचाई करते हुए उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि यह संघीय व्यवस्था के खिलाफ है। न्यायालय ने सवाल किया कि एक राज्य कैसे संसद के जनादेश को चुनौती दे सकता है? उसने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को स्वयं एक व्यक्ति के तौर पर इस मामले में अपील दायर करनी चाहिए।

ममता बनर्जी ने आधार मुद्दे पर कहा, हम उच्चतम न्यायालय की टिप्पणी को स्वीकार करते हैं।

केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को कहा था कि विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आधार को उनसे जोड़ने की अनिवार्यता की तिथि बढ़ाकर 31 मार्च, 2018 कर दिया गया है। यह प्रावधान उनके लिए किया गया है जिनके पास अभी भी 12 डिजिट की बायोमीट्रिक पहचान संख्या आधार नहीं है। केंद्र ने कहा कि यह समय विस्तार सिर्फ उनके लिए है जिनके पास आधार नंबर नहीं है।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

जानें आधार कार्ड के फायदे

  1. दस दिन में मिल जाएगा पासपोर्ट
  2. खुल जाएगा नया बैंक अकांऊट
  3. डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट के आधार जरूरी
  4. आधार नम्बर से कर सकेंगे निवेश
  5. आधार कार्ड होने पर ही मिलेगा प्राविडेंट फंड
  6. डिजिटल लाकर में मददगार
  7. एलपीजी सब्सिडी ट्रांसफर करवाने में आधार जरूरी
  8. वोटर आईडी से जोड़ा जाएगा आधार नंबर
  9. जनधन योजना के लिए आधार पर्याप्त

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top