GST : जीएसटी देश भर में लागू , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताई नई परिभाषा Good & Simple Tax

GST : जीएसटी देश भर में लागू , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताई नई परिभाषा Good & Simple Taxप्रधानमंत्री मोदी 

नई दिल्ली। देशभर में आज से भारत में एक देश एक टैक्स और एक बाजार की व्यवस्था लागू हो गई है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी संसद भवन के सेंट्रल हाल में घंटी बजाकर जीएसटी का शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीएसटी की नई परिषाभा बताते हुए कहा कि ये गुड एंड सिम्पल टैक्स है।

शुक्रवार की मध्यरात्रि (यानी शनिवार, 1 जुलाई, 2017) को संसद के ऐतिहासिक सेंट्रल हॉल में लोकसभा, राज्यसभा के तमाम सांसदों की उपस्थिति की राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी जीएसटी की शुरुआत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 14 साल के लंबे इंतजार के बाद देश को जीएसटी मिला है। उन्होंने कहा कि जीएसटी वैसे है जैसे चश्मे का नया नंबर होने पर कुछ दिक्कतें होती है लेकिन बाद सब ठीक हो जाता है वैसे ही इसके साथ होगा। जीएसटी देश देश की अर्थव्यस्था बदल जाएगी।

पिछले तीनों कार्यक्रम देश की आज़ादी से जुड़े हैं, और यह भी एक कारण है कि कांग्रेस ने शुक्रवार रात के कार्यक्रम के बहिष्कार का ऐलान किया है। कई अन्य विपक्षी दल भी कार्यक्रम से दूर रहने वाले हैं। माना जा रहा है कि कई अप्रत्यक्ष करों का स्थान लेने जा रहे जीएसटी से 20 खरब अमेरिकी डॉलर की हमारी अर्थव्यवस्था पूरी तरह बदल जाएगी। आज की बैठक में कयी बड़ी घोषणाएं हुयीं। ट्रैक्टर पार्ट को 28 की जगह अब 18 प्रतिशत जबकि फर्जीलाइजर 5 प्रतिशत टैक्स लगाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- GST : बीएमडब्ल्यू से चलने वाले व्यक्ति और किसानों पर एक जैसा कर

  1. आधी रात के एतिहासिक समारोह के लिए सेंट्रल हॉल में नए कारपेट बिछाए गए हैं। इसके अलावा नए साउंड सिस्टम भी लगाए गए हैं। प्रोग्राम रात 11 बजे शुरू होगा, और ठीक आधीरात के वक्त घंटा बजाकर जीएसटी के लागू होने का एलान होगा।
  2. राष्ट्रपति और पीएम मोदी इस मौके पर अपनी बात भी रखेंगे। सेंट्रल हॉल के मंच पर पूर्व पीएम देवेगौड़ा, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी भी मौजूद रहेंगे। हालांकि निमंत्रण पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को भी भेजा गया है, लेकिन कांग्रेस के बहिष्कार करने की वजह से उनके आने की उम्मीद कम है।
  3. कार्यक्रम में बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन से लेकर देश के सबसे बड़े उद्योगपतियों में शुमार किए जाने वाले रतन टाटा और लता मंगेशकर भी शामिल होंगी। आरबीआई के मौजूदा गवर्नर उर्जित पटेल और दो पूर्व गवर्नर भी शिरकत करने की उम्मीद है। जबकि रघुराम राजन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे।
  4. मोदी सरकार ने सभी सांसदों के साथ साथ सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कार्यक्रम का निमंत्रण भेजा है। कांग्रेस समेत 4 विपक्षी दल कार्यक्रम का बहिष्कार कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के कार्यक्रम में शामिल होने पर सस्पेंस बना हुआ है।
  5. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जीएसटी का समर्थन किया है, लेकिन वो खुद इस कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनेंगे, नकी पार्टी के सांसदों से कार्यक्रम से दूर रहने के लिए नहीं कहा गया है।
  6. तमिलनाडू की सत्तासीन पार्टी एआईएडीएमके जीएसटी के पक्ष में नहीं थी लेकिन आखिरी मौके पर समर्थन का मूड बनाया और कार्यक्रम में शामिल होने का मन बनाया।

ये भी पढ़ें- घोड़ों, गधों और खच्चर पर भी लगेगा GST !

ये भी पढ़ें- जीएसटी : महिलाओं के बजट पर पड़ेगा असर, जानें, रोज़मर्रा की ज़रूरत के सामान पर लगेगा कितना टैक्स

Share it
Top