राष्ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेले में महिलाओं ने सुनाई सफलता की कहानियां

राष्ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेले में महिलाओं ने सुनाई सफलता की कहानियां

रांची/लखनऊ। आजीविका और कौशल विकास मेला के साथ ही शनिवार को ग्राम स्वराज अभियान का समापन हो गया। चौदह अप्रैल से 05 मई तक चलने वाले इस कार्यक्रम में केंद्र सरकार की विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं को ग्रामीणों को पहुंचाया गया।

14 अप्रैल, 2018 से 05 मई, 2018 तक “ग्राम स्वराज अभियान- सबका साथ, सबका गांव, सबका विकास कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें देश के मंत्री व विधायकों ने गाँव में जाकर चौपाल लगाकर केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी दी।

इस कार्यक्रम की शुरूआत 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती से की गई। इस देश भर में जाति, आय प्रमाण-पत्र और छात्रवृत्ति के लिए पंजीकरण किए जाएंगे और बैंक खातों को आधार से जोड़ा गया।

ग्राम स्वराज अभियान के दौरान 21058 गांवों के लिए विशेष पहल शुरू की गई। इस अभियान के अंतर्गत गरीब समर्थक पहलों में उज्ज्वला योजना, मिशन इन्द्रधनुष, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना, उजाला, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का शत प्रतिशत आच्छादन किया जाएगा।

18 अप्रैल, 2018 को स्वच्छ भारत पर्व के तहत ग्राम स्वच्छता अभियान कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दिन प्रत्येक गांव में सफाई अभियानों का आयोजन किया गया। 20 अप्रैल, 2018, उज्ज्वला पंचायत के रूप में मनाया गया। इस दिन 15000 स्थानों पर एलपीजी कनेक्शन बांटे गए।

ये भी पढ़ें- किसान कल्याण कार्यशाला: किसानों को बताया जा रहा कैसे बढ़ाएं आमदनी, देखें वीडियो

पंचायती राज दिवस, 24 अप्रैल, 2018 को राष्ट्रीय एवं ग्राम सभा स्तर परके अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दिन राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ किया गया। 28 अप्रैल, 2018 का दिन “ग्राम शक्ति अभियान’ के रूप में मनाया गया।

02 अप्रैल, 2018 “किसान कल्याण कार्यशाला’ का आयोजन किया गया, जिसमें देश के सभी ब्लॉकों में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दिन ब्लॉक स्तर पर किसानों की आय दुगुनी करने की कार्यशाला आयोजित की गई।

05 मई, 2018 को आजीविका और कौशल विकास मेलों का 4000 ब्लॉकों व राष्ट्रीय स्तर पर आयोजन किया गया। इस दिन एक लाख महिलाएं व युवक सफलता की कहानियां- रोल मॉडल पर आधारित समारोह का आयोजन किया गया।

झारखंड़ में महिला को सम्मानित करते प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुबर दास और केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर। फोटो- नीतू सिंह

रांची में स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं ने बताया कैसे बदली उनकी जिंदगी

झारखंड की राजधानी रांची में आयोजित राष्ट्रीय आजीविका एवं कौशल विकास मेला में की शुरुआत हो गयी है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ कार्यक्रम का उदघाटन किया। झारखंड के जवाहर स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में दूर-दराज के जिलों से आयीं महिलाओं ने अपने अनुभव सुनाए, उन्होंने बताया कि कैसे कौशल विकास योजना से जुड़ने के बाद उनकी जिंदगी में बदलाव आया। ग्राम स्वराज अभियान के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

राज्य सरकार ने महिलाओं के लिए रोजगार के रास्ते खोलते हुए अब तक सौ से ज्यादा प्रखंड कार्यालयों में सखी मंडल की बहनों को कैंटीन खोलने का काम सौंपा है जबकि राज्य सरकार ग्रामीण महिलाओं को बैंक से सस्ते दरों पर कर्ज दिलाने के लिए लगातार काम कर रही है। जिससे महिलाएं अपना कारोबार कर स्वरोजगार को अपना सकें।

Share it
Share it
Share it
Top