वोट के लिए नेताओं के बिगड़े बोल: कोई दे रहा पाप तो कोई खुलेआम दे रहा धमकी

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
वोट के लिए नेताओं के बिगड़े बोल: कोई दे रहा पाप तो कोई खुलेआम दे रहा धमकी

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 का आगाज हो गया है। चुनाव में उतरे प्रत्‍याशी अगल-अलग तरीके से वोट मांग रहे हैं। कोई खुद को वोटर्स के बीच का नेता बताने में लगा है तो कोई खुद को वोटर्स का सबसे बड़ा हमदर्द। इसी वोट मांगने के तरीके में अब धमकी देकर वोट मांगना भी शामिल हो गया है।

पहला मामला

उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार मेनका गांधी ने इसकी शुरुआत की। मेनका का एक विवादित बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वो वोट के लिए धमकी देते दिख रही हैं। उन्‍होंने एक मुस्‍लिम बस्‍ती में मुसलमानों को संबोधित करते हुए कहा, ''मैं जीत रही हूं, लेकिन अगर मेरी जीत मुसलमानों के बिना होगी तो मुझे बहुत अच्‍छा नहीं लगेगा। क्‍योंकि इतना मैं बता देती हूं कि फिर दिल खट्टा हो जाता है। फिर जब मुसलमान आता है काम के लिए फिर मैं सोचती हूं कि रहने ही दो, क्‍या फर्क पड़ता है।''

मेनका ने आगे कहा, ''आखिर नौकरी एक सौदेबाजी भी तो होती है, बात सही है कि नहीं। यह नहीं कि हम लोग महात्‍मा गांधी की छठी औलाद हैं कि हम आएं और केवल देते ही जाएंगे, देते ही जाएंगे और इलेक्‍शन में मार खाकर जाएंगे, सही है बात कि नहीं। यह जीत आपके बिना भी होगी, आपके साथ भी होगी।''

दूसरा मामला

उत्‍तर प्रदेश के ही उन्‍नाव लोकसभा सीट से बीजेपी उम्‍मीदवार साक्षी महाराज भी पीछे नहीं रहे। उन्‍होंने वोट न देने पर पाप चढ़ने की बात कही है। सोहरामऊ क्षेत्र के गांव शेखपुर में शुक्रवार को साक्षी महाराज ने चुनावी सभा में कहा कि ''वह एक संत हैं और वोट मांगने आए हैं। एक वोट का दान कई कन्यादान के बराबर होता है। संन्यासी लोगों का भला करते हैं। मैं आपसे घर, खेती या अन्य चीज दान में नहीं मांग रहा, सिर्फ आपका वोट मांग रहा हूं। संत की मांग जो पूरी नहीं करता वह उसके किए गए पुण्य ले जाता है। वैसे ही मुझे मतदान न करने वालों के पुण्य मैं ले जाऊंगा और अपने पाप दे जाऊंगा।''



  

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.