बाल दिवस पर छात्रा ने गीत के जरिए कन्या भ्रूण हत्या पर बयां किया अपना दर्द

बाल दिवस पर छात्रा ने गीत के जरिए कन्या भ्रूण हत्या पर बयां किया अपना दर्दकस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय महामलपुर मिर्जापुर की छात्रा खुशी पटेल। खुशी मीना मंच की छात्रा हैं।

मिर्जापुर। बच्चों का दिन हैं, पूरे देश में आज बाल दिवस (14 नवम्बर) मनाया जा रहा है। बाल दिवस पर बच्चे समाज में फैली कई कुरीतियों को दूर करने के लिए बड़ों को समझा रहे हैं। छात्र-छात्राएं अपने मन की बात कभी गीत के जरिए तो कभी कविता के जरिए कह रहे हैं।

मिर्जापुर का यह कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय महामलपुर है जहां पर इस गीत के सहारे यह बच्ची कन्या भ्रूण हत्या के खात्मे के लिए अपने बड़ों को समझा रही है। बच्ची का नाम है खुशी पटेल। खुशी मीना मंच की छात्रा हैं।

लड़कों की तरह लड़की भी मुठ्ठी बांध कर पैदा होती है।

लड़कों की तरह लड़की भी मां के गोद में हंसती रोती है।।

बाल दिवस पर उत्तर प्रदेश में छह जिलों के कई स्कूलों में ढेर सारे कार्यक्रम हो रहे हैं, जिसे यूनीसेफ और गांव कनेक्शन के साझा प्रयास से किया जा रहा है। यूनीसेफ और गांव कनेक्शन के साझे प्रयास से यह कार्यक्रम बाल दिवस (14 नवम्बर) से शुरू होकर विश्व बाल दिवस (20 नवम्बर) तक चलेगा।

Share it
Top