पीएनबी घोटाला : पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी गिरफ्तार

पीएनबी घोटाला :  पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी गिरफ्तारपीएनबी 

लखनऊ। पीएनबी में 11400 करोड़ रुपए घोटाले में पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी (अब सेवानिवृत्त) को सीबीआई ने मुंबई से गिरफ्तार किया। गोकुलनाथ शेट्टी पर बिना गारंटी कर्ज देने का आरोप है। इसमें दो और लोग लोग मनोज खराट, हेमंत भट्ट भी गिरफ्तार किए गए हैं। हेमंत भट्ट, नीरव मोदी की कंपनी के अधिकारी हैं। उन्हें आज सीबीआई की विशेष अदालत मुंबई में पेश किया जाएगा।

अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी ने मोदी, उसकी कंपनियों और रिश्तेदार मेहुल चोकसी के खिलाफ 31 जनवरी को दर्ज की गई अपनी प्राथमिकी के संबंध में तत्कालीन उप प्रबंधक गोकुलनाथ शेट्टी (अब सेवानिवृत्त), एकल खिड़की संचालक मनोज खराट और हेमंत भट्ट को हिरासत में लिया है। इस प्राथमिकी में करीब 280 करोड़ रुपए के फर्जी लेन-देन के आठ मामले दर्ज हैं लेकिन बैंक से आगे प्राप्त हुई शिकायतों के आधार पर सीबीआई ने कहा है कि पहली प्राथमिकी में अब करीब 6,498 करोड़ रुप, की राशि की जांच की जाएगी जो शेट्टी और खराट द्वारा कथिततौर पर फर्जी तरीके से 150 साख पत्र (लेओयू) जारी करने से जुड़ी है।

सीबीआई की प्राथमिकी में पीएनबी के सेवानिवृत्त डिप्टी मैनेजर और संचालक समेत तीन निजी कंपनियों के 10 निदेशकों कृष्णन संगमेश्वरन, नाजुरा यशजनेय, गोपाल दास भाटिया, अनियथ शिवरमन, धनेश व्रजलाल सेठ, ज्योति भारत वोरा, अनिल उमेश हल्दीपुर, चंद्रकांत कानू करकरे, पंखुड़ी अभिजीत वारंगे और मिहिर भास्कर जोशी के नाम शामिल हैं।

प्राथमिकी के अनुसार, "पीएनबी की शिकायत में आरोप लगाया गया है कि गीतांजलि जेम्स, गिली इंडिया लिमिटेड और नक्षत्र ब्रांड लिमिटेड और इनके निदेशकों ने शेट्टी और अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर कथित रूप से बैंक से 4,886.72 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की।"

सीबीआई ने शुक्रवार को गीतांजलि समूह की कंपनियों के 10 निदेशकों के खिलाफ नई प्राथमिकी दर्ज की, जिसमें इन लोगों पर भारतीय दंड संहिता और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत आपराधिक साजिश और धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए हैं। इनमें गीतांजलि जेम्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक, मेहुल चोकसी का नाम शामिल है।

ये भी पढ़ें- सिर्फ 2 घंटे खेत में काम करके ये किसान हर महीने कमाता है 15 से 20 हजार रुपए

प्राथमिकी में बैंक के दो पूर्व कर्मचारियों के भी नाम हैं, जिनके इस धोखाधड़ी में सीधे संलिप्त होने की खबर सामने आ रही है। इसके अलावा गीतांजलि समूह की तीन कंपनियों के ऊपर भी पीएनबी को 4,886.72 करोड़ रुपए का घाटा पहुंचाने के लिए प्राथमिकी दर्ज की गई है।

प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने गुरुवार को इस घोटाले के संबंध में हीरा व्यापारी नीरव मोदी के पूरे देश में फैले कार्यालयों, शोरूम और कार्यशालाओं पर छापे मारे थे।

ये भी पढ़ें- गोबर से लाखों का कारोबार करना है तो लगाइए बॉयो सीएनजी बनाने का प्लांट, पूरी जानकारी

अधिकारियों ने बताया कि गीतांजलि कंपनी समूह के लिए जारी किए गए करीब 4,886 करोड़ रुपए के शेष 150 साखपत्र दूसरी प्राथमिकी का हिस्सा हैं। यह दूसरी प्राथमिकी चोकसी और उसकी कंपनियां गीतांजलि जेम्स, नक्षत्र ब्रांड्स और गिली के खिलाफ कल दर्ज की गई थी। अधिकारियों ने बताया कि ये सभी साखपत्र वर्ष 2017-18 के दौरान जारी या नवीकृत किए गए हैं।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11,400 करोड़ रुपए के घोटाले पर कांग्रेस आज एक प्रेस कांफ्रेंस कर रही है। कांग्रेस ने कहा कि चौकीदार सो रहा है चोर खो गया है।

ये भी पढ़ें- जानें उत्तर प्रदेश बजट 2018-19 की मुख्य बातें 

बैंकरों के संगठन इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) की पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11,400 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आने के बाद आज बैठक होने जा रही है। सूत्रों ने आज यह जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि आईबीए की चेयरपर्सन उषा अनंतसुब्रमण्यन पूर्व में पीएनबी की प्रबंध निदेशक रह चुकी हैं। फिलहाल वह इलाहाबाद बैंक की प्रमुख है। समझा जाता है कि पीएनबी द्वारा जारी कुछ साख पत्र पर इलाहाबाद बैंक ने भी कर्ज दिया है।

ये भी पढ़ें- ग्रीन हाउस लगवाने पर सरकार दे रही 50 प्रतिशत अनुदान, जल्द करिए आवेदन

आभूषण व्यापारियों और निर्यातकों को यह डर सता रहा है कि उद्योग को मिलने वाले ऋण पर असर पड़ सकता है, क्योंकि ऋणदाता अधिक सर्तकता बरतेंगे। रत्न और आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (जीजेईपीसी) के क्षेत्रीय अध्यक्ष (पूर्वी क्षेत्र) प्रकाश चंद्र पिंचा ने बताया, "इस घोटाले का व्यापक असर होगा और ऋणदाताओं के दिमाग पर भी मनोवैज्ञानिक प्रभाव होगा, जब भी कोई बैंक अब इस कारोबार को ऋण देगा तो वह अधिक सतर्क होगा कि कहीं कोई धोखाधड़ी की संभावना तो नहीं है। इस उद्योग में ऋण का प्रवाह प्रभावित होगा और उद्योग के विस्तार में देरी होगी।"

ये भी पढ़ें- मुर्रा भैंसों का कमाल : ठेकेदारी छोड़ ये आदमी अब हर साल कर रहा लाखों की कमाई

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के अध्यक्ष रजनीश कुमार ने कहा कि हाई प्रोफाइल घोटालेबाज आभूषण कारोबारी नीरव मोदी से कोई सीधा वास्ता नहीं है, लेकिन पंजाब नेशनल बैंक द्वारा दिए गए 21.2 करोड़ डॉलर के लेटर ऑफ अंडरटेकिंग मामले में एसबीआई भी प्रभावित है। कुमार ने कहा, "एसबीआई ने कुल 16 लाख करोड़ रुपए का ऋण दिया है, जिसमें से रत्न और आभूषण कारोबार को 13,000 करोड़ रुपए से कम का ऋण दिया गया है।"

ये भी पढ़ें- आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और ओड़िशा से हो रही है मोटे अनाज की वापसी

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में सामने आए 1.8 अरब डॉलर के घोटाले के बाद आभूषण कंपनी गीतांजलि जेम्स के शेयरों में शुक्रवार को करीब 20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और इस पर निचले स्तर का सर्किट लग गया, जबकि पीएनबी के शेयरों में 2 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की गई। घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के मामा और बिजनेस पार्टनर मेहुल चोकसी द्वारा प्रमोटेड लक्जरी आभूषण ब्रांड गीतांजलि जेम्स के शेयरों में 19.94 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई और यह 37.55 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ।

ये भी पढ़ें- वाह ! खेती से हर महीने कैसे कमाए जाएं लाखों रुपए, पूर्वांचल के इस किसान से सीखिए

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top