Top

ग्रीन कॉरिडोर बनाकर दिल्ली भेजे गए एनटीपीसी विस्फोट में झुलसे तीन मरीज 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   2 Nov 2017 5:15 PM GMT

ग्रीन कॉरिडोर बनाकर दिल्ली भेजे गए एनटीपीसी विस्फोट में झुलसे तीन मरीज रायबरेली के एनटीपीसी संयंत्र में विस्फोट।

लखनऊ (भाषा)। रायबरेली के एनटीपीसी संयंत्र में हुए विस्फोट में गंभीर रुप से घायल हुए तीन लोगों को आज लखनऊ स्थित अस्पताल से ग्रीन कॉरिडोर बनाकर हवाई मार्ग से गुडगांव के मेदांता अस्पताल अस्पताल भेजा गया है। करीब 80 फीसदी झुलस गए तीनों लोग एनटीपीसी के अधिकारी हैं और उनकी हालत बहुत खराब बताई गई।

इन लोगों को लखनऊ के अस्पताल से हवाई अड्डे तक 26 किलोमीटर के रास्ते को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर महज 22 मिनट में पहुंचाया गया और फिर एयरलिफ्ट कराके मेदांता अस्पताल लाया गया। एनटीपीसी विस्फोट में घायल तीन अफसरों को ग्रीन कॉरिडोर बना एयरलिफ्ट से दिल्ली पहुंचाया। जिसमें सहदेव साहू को अपोलो अस्पताल और प्रभात श्रीवास्तव-मिश्री लाल को गुडगांव के मेंदाता अस्पताल में भर्ती कराया गया।

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया, मुझसे सुश्रुत इन्स्टीटयूट आफ प्लास्टिक सर्जरी (सिप्स) में भर्ती गंभीर हालत वाले तीन मरीजों को दिल्ली ले जाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाने को कहा गया था। लखनऊ पुलिस ने आज सुबह करीब साढ़े दस बजे चौक स्थित सिप्स से अमौसी हवाई अड्डे तक ग्रीन कॉरिडोर बनाया। दोनों के बीच की 26 किलोमीटर की दूरी को 22 मिनट में तय करके तीनों रोगियों को अमौसी हवाई अड्डा भेजा गया।

कुमार ने कहा कि सुबह दस बजे सड़क पर बहुत गाड़ियों होती हैं, क्योंकि अधिकतर लोग अपने काम पर जा रहे होते हैं] इसके बावजूद लखनऊ पुलिस ने बहुत तत्परता से काम किया और केवल 22 मिनट में तीनों घायल मरीजों को सुरक्षित हवाई अड्डे पहुंचा दिया।

सिप्स के डॉक्टर रितेश पुरवार ने बताया कि एनटीपीसी हादसे में बुरी तरह झुलसे लोगों में से पांच को हमारे यहां लाया गया था। इनमें से तीन को मेदांता भेजा गया है। उन्होंने कहा कि ये तीनों मरीज एनटीपीसी के अधिकारी बताये जा रहे हैं, लेकिन मुझे इस संबंध में पुष्ट सूचना नहीं है।

शहर के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेन्टर के प्रभारी डॉक्टर संदीप तिवारी के अनुसार एनटीपीसी हादसे के बाद 12 लोगों को उनके यहां लाया गया। उनमें से एक व्यक्ति की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो चुकी थी।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

डॉक्टर तिवारी ने बताया कि शेष 11 मरीजों में से मामूली रुप से झुलसे दो लोगों को आज सुबह छुट्टी दे दी गई है जबकि नौ लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया, इनमें से छह मरीज 50 से 60 फीसदी तथा तीन मरीज 30 से 50 फीसदी तक झुलसे हुए हैं।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.