मृत किसानों के परिजनों ने की शिवराज से मुलाकात, कहा- तोड़ दें उपवास

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   11 Jun 2017 9:10 AM GMT

मृत किसानों के परिजनों ने की शिवराज से मुलाकात, कहा- तोड़ दें उपवासशिवराज सिंह चौहान से उपवास तोड़ने की प्रार्थना करता मृत किसान का परिजन।

मध्य प्रदेश। मंदसौर से शुरु हुए मध्यप्रदेश के किसान आंदोलन का आज 11वां दिन है। प्रदेश में शांति स्थापित करने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान शनिवार से उपवास कर रहे हैं। मंदसौर में मारे गये 4 लोगों के परिजनों ने शनिवार को सीएम से मुलाकात की और उनसे उपवास खत्म करने का आग्रह किया। मध्यप्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने यह जानकारी दी।

दूसरे दिन बारिश ने डाला खलल

सीएम शिवराज भोपाल के भेल स्थित दशहरा मैदान में उपवास कर रहे हैं। शनिवार रात भोपाल में हुई बारिश की वजह से दशहरा मैदान में चारों तरफ पानी भर गया है। वहां काफी कीचड़ भी जमा हो गया है। सीएम ने रात दशहरा मैदान में ही गुजारी।

किसानों की मौत के लिए जिम्मेदारों को मिलेगी सजा

बीजेपी नेता ने कहा कि मारे गए पांच किसानों में से चार के परिजनों ने मुख्यमंत्री से यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि किसानों की मौत के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो।

हो गई थी पांच की मौत

छह जून को मंदसौर जिले में किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा की गई फायरिंग में पांच किसानों की मौत हो गई थी और छह अन्य किसान घायल हो गये थे, जिसके बाद किसान भड़क गए थे और किसान आंदोलन पूरे मध्यप्रदेश में फैल गया और हिंसक हो गया।

अनिश्चित उपवास पर हैं मुख्यमंत्री

अपनी उपज का सही मूल्य दिलाए जाने और कर्ज माफी समेत 20 सूत्रीय मांगों को लेकर किसानों ने यह आंदोलन किया. इस आंदोलन के दसवें दिन प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यहां दशहरा मैदान में शांति बहाली के लिए अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठ गए। उन्होंने किसानों को यहां समस्या के समाधान के लिए आने का आहवान भी किया है।

मध्यप्रदेश हिंसा: सोशल मीडिया में कोई किसान तो कोई पुलिस को बता रहा जिम्मेदार, देखिए दिल दहला देने वाले वीडियो

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top