मध्य प्रदेश में रेप के आराेपियों को मिलेगी मौत की सजा !

मध्य प्रदेश में रेप के आराेपियों को मिलेगी मौत की सजा !मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान। 

भोपाल (आईएएनएस)| "मध्यप्रदेश की विधानसभा के अगामी मानसून सत्र में दुराचारियों को मृत्युदंड देने का विधेयक प्रस्तुत किया जाएगा, जिसे पारित होने के बाद राष्ट्रपति को भेजा जाएगा।" ये बातें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को मप्र पुलिस अकादमी में पुलिसकर्मियों के संयुक्त दीक्षांत समारोह को संबोधित करते बोले।

मुख्यमंत्री चौहान ने आगे बताया कि, "पुलिस सेवा को स्वीकारना देश और समाज के लिए अपनी ज़िन्दगी सौंपना है। देश-प्रदेश के विकास की पहली शर्त है कि कानून और व्यवस्था बेहतर हो। इसके लिए जरूरी है कि पुलिस का व्यवहार जनता के लिए फूल-सा कोमल, अपराधियों के लिए वज्र सा कठोर हो।"

ये भी पढ़िए- मप्र में BJP सरकार के 156 माह के कार्यकाल में 156 घोटाले: कांग्रेस

मुख्यमंत्री ने नवदीक्षित पुलिसकर्मियों से कहा, "पुलिस उनकी दूसरी माता है। उसका मान-सम्मान रखना उनका परम कर्तव्य है। उसकी लाज बनाए रखने के लिए जरूरी है कि उसकी छवि धूमिल नहीं हो। उसे ऐसे लोगों से बचकर रहना होगा जो गलत कामों में लिप्त हैं।"

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने भरोसा दिलाया कि पुलिस की आवश्यकताओं को पूरा करने में सरकार का पूरा सहयोग मिलेगा। पुलिस के 30 हजार नए पद स्वीकृत किए गए हैं। कुल 25 हजार नए पुलिस आवास बनवाए जा रहे हैं। सीसीटीवी कैमरे और अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को शांति का टापू बनाने का श्रेय पुलिस को है। पुलिस ने ट्रेन विस्फोट के अपराधियों को मात्र तीन घंटे के भीतर पकड़ने का कार्य किया है।

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में तीन लाख बाल मजदूर निरक्षर

इस मौके पर पुलिस अकादमी के निदेशक सुशोभन बनर्जी ने बताया कि पहली बार पुलिस अकादमियों का संयुक्त दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया है। इस 89वें दीक्षांत समारोह में कुल 633 पुलिसकर्मियों को मुख्यमंत्री ने विभाग में शामिल करने की औपचारिकता पूर्ण की। इनमें 478 पुरुष एवं 155 महिला पुलिसकर्मी है।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने परेड का निरीक्षण किया और सलामी ली। कार्यक्रम के अंत में उन्होंने अकादमी की स्मारिका का विमोचन किया और पासआउट पुलिसकर्मियों से परिचय प्राप्त किया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top