18 दिन में दो हजार किमी से ज्यादा की यात्रा तय करके किसानों को जागरुक करेगा ‘कृषि क्रांति रथ’  

18 दिन में दो हजार किमी से ज्यादा की यात्रा तय करके किसानों को जागरुक करेगा ‘कृषि क्रांति रथ’  कृषि क्रांति रथ को आज मिली हरी झंडी।

लखनऊ। मध्य प्रदेश में आज (15 अप्रैल) से कृषि महोत्सव शुरू किया जा रहा है जो 2 मई तक कई जिलों में चलेगा। कृषि क्रांति रथ के जरिए किसानों को खेती की जानकारी देकर उन्हें जागरुक किया जाएगा। ऐसा माना जा रहा है कि ये कृषि रथ 18 दिन में दो हजार किमी से भी ज्यादा की यात्रा तय करेंगे।

इसके लिए जिलास्तर पर कार्यक्रम चलाए जाएंगे जहां कृषि रथ को हर गांव तक ले जाया जाएगा। इसके जरिए किसानों को उन्नत फसलों के साथ अन्य जानकारी दी जाएगी। साथ ही किसान इस दौरान खेती के क्षेत्र में अपनी किसी भी समस्या का समाधान पा सकते हैं।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

शुक्रवार को एक रूटचार्ट तैयार किया गया जिससे जिले के हर कोने में रथ सपहुंच सके और किसानों को लाब मिल सके। किसान कल्याण और कृषि विकास विभाग के उपसंचालक के एस खपेड़िया ने बताया कि कृषि विभाग ने जिलों के हर विकासखंड में दो कृषि क्रांति रथ चलाए जाएंगे। इसके साथ ही विकासखंड का रूटचार्ट कुछ इस तरह तैयार किया गया है कि हर दिन प्रत्येक कृषि क्रांति रथ दो ग्राम पंचायतों तक जाकर किसानों को उन्नत खेती के गुर सिखा सकें।

किसानों को जानकारी देते विशेषज्ञ।

किसान ले सकते हैं इस तरह की जानकारी

इस कृषि रथ से पशुपालन, उद्यानिकी, मछलीपालन जैसे व्यवसाय पर भी किसान और संबंधित लोग जान सकेंगे। किसान संबंधित विभागों के विशेषज्ञों तक अपनी बात कैसे रख सकते हैं, इसके बारे में भी उन्हें बताया जाएगा। किसान आज की बेहतर और नई तकनीक से ज्यादा मुनाफा कमाएं, इसके लिए भी वैज्ञानिक खेती के बारे में लोगों को जागरुक किया जाएगा। एकीकृत पोषक तत्व प्रबंधन, जैविक खेती का चयनित क्षेत्रों में प्रसार, फसलों की नई किस्मों, बागवानी विकास और दुग्ध उत्पादन में बढ़ोत्तरी के तरीके भी लोंगों से साझा किेए जाएंगे। मृदा स्वास्थ्य कार्ड की उपयोगिता बताते हुए किसानों को कार्ड भी बांटे जाएंगे। इसके साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से भी किसानों को जागरुक किया जाएगा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top