मध्य प्रदेश : किसान ऋण माफी योजना के तहत एक किसान के माफ हुए सिर्फ 13 रुपए

Divendra SinghDivendra Singh   25 Jan 2019 11:07 AM GMT

मध्य प्रदेश : किसान ऋण माफी योजना के तहत एक किसान के माफ हुए सिर्फ 13 रुपए

आगर मालवा (मध्य प्रदेश)। प्रदेश के आगर मालवा जिले का 55 वर्षीय किसान उस वक्त हैरान रह गया जब उसने देखा कि 23,815 रुपए के कृषि ऋण के स्थान पर उसके खाते से मात्र 13 रुपए ऋण के तौर पर माफ किए जा रहे हैं।

जबकि कांग्रेस सरकार बनने के बाद किसान ऋण माफी योजना के तहत प्रदेश में किसानों के दो लाख रुपये तक के कृषि ऋण माफ करने की योजना शुरु की गई है। जिला मुख्यालय से पांच किलोमीटर दूर निपानिया बैजनाथ गाँव में रहने वाले किसान शिवलाल कटारिया ने बताया, "पंचायत में लगी सूची में मैंने देखा कि मेरा 23,815 रुपए का कृषि ऋण माफ करने के स्थान पर केवल 13 रुपए माफ किये जा रहे हैं।"

कटारिया ने बताया कि वह एक गरीब किसान है तथा वह और उसके बेटे का परिवार दो एकड़ जमीन पर सोयाबीन उगाकर अपना घर चलाते हैं।

उन्होंने आगे कहा, "प्रदेश सरकार ने किसानों का दो लाख रुपए तक का कृषि ऋण माफ करने का वादा किया था। कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनने पर किसानों का ऋण माफ करने की योजना लागू करने का वचन दिया था, तब उसे खुशी के साथ अपना ऋण माफ होने की उम्मीद बंधी थी।"



उसने कहा, निश्चित तौर पर यह योजना अच्छी है। मेरे गांव के अन्य किसान इसका फायदा ले रहे हैं। मैं अपने मामले को अधिकारियों के ध्यान में लाया हूं और मुझे उम्मीद है कि 10 माह पहले लिया गया मेरा ऋण भी माफ होगा।

आगर मालवा के जिलाधिकारी अजय गुप्ता ने इस बारे में कहा, "जिले में बड़ी तादाद में किसान हैं। इसलिये मैं इस मामले को देखता हूं।"

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार का 18 जनवरी को मुख्यमंत्री पद का पद्भार संभालने के कुछ घंटे बाद ही किसानों का दो लाख रुपये तक का ऋण माफ करने की घोषणा की थी।

प्रदेश में किसान ऋण माफी योजना के आवेदन 15 जनवरी से पांच फरवरी तक लिये जा रहे हैं और 22 फरवरी से किसानों की खाते में ऋण माफी की रकम दर्ज होने लगेगी। पहले किसान ऋण माफी योजना में 31 मार्च तक किसानों के ऋण की स्थिति में कृषि ऋण माफ किये जाने की घोषणा की गई थी बाद में इस सीमा को बढ़ाकर 12 दिसंबर तक किया गया। प्रदेश के 55 लाख किसान इस योजना से लाभान्वित होगें और किसानों का लगभग 50,000 करोड़ रुपए का ऋण प्रदेश सरकार द्वारा माफ किया जाएगा।

इस मुद्दे पर मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि इस तरह की खबरें आ रही हैं कि किसानों का 10, 20 या 50 रुपए का कर्ज माफ हुआ है, ये तो भद्दा मजाक है। बुधवार को उन्होंने कर्जमाफी की लिस्ट देखी थी आधा से अधिक नाम अंग्रेजी में थे। मध्य प्रदेश की अधिकांश जनता अंग्रेजी नहीं समझती है आखिर ये सब क्या हो रहा है।



इस बारे में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन कहा कि ये बात सच है कि कुछ किसानों को महज 100 रुपए की राहत मिली है। लेकिन जिन लोगों को परेशानी है वो संबंधित अधिकारियों और बैंकों से मिलें। सरकार की तरफ से स्पष्ट आदेश है कि जिन किसानों ने तय समय सीमा के अंदर 2 लाख रुपए तक का लोन लेंगे उन्हें कर्जमाफी का फायदा मिलेगा।

इनपुट - भाषा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top