मैग्मा फिनकॉर्प और पीसीआरए ने एक लाख ट्रक ड्राइवरों को किया प्रशिक्षित

मैग्मा फिनकॉर्प और पीसीआरए ने एक लाख ट्रक  ड्राइवरों को किया प्रशिक्षितमैग्मा फिनकॅार्प लिमिटेड ने मंगलवार को पहले चरण के तहत हाइवे हीरोज के सफल परीक्षण के समापन की घोषणा की।

लखनऊ। भारत सरकार की पेट्रोलियम कंजर्वेशन रिसर्च एसोसिएशन(पीसीआरए) के साथ मुंबई स्थित मैग्मा फिनकॅार्प लिमिटेड ने मंगलवार को पहले चरण के तहत हाइवे हीरोज के सफल परीक्षण के समापन की घोषणा की।

पहले चरण के कुल एक लाख ट्रक ड्राइवरों को प्रशिक्षित किया गया। इसकी शुरूआत साल 2015 में करी गई थी। इसका मकसद पर्यावरण प्रदूषण को कम करना, ट्रक ड्राइवरों के समुदाय की ईधन दक्षता और लाभप्रदता बढ़ाना साथ ही सुरक्षित ड्राइविंग कौशल प्रदान करना है। मंगलवार को हुई पत्रकार वार्ता में पीसीआरए के कार्यकारी निदेशक आलोक त्रिपाठी, मैग्मा फाइनेंस के कौशिक सिन्हा ने संबोधित किया।

ये भी पढ़ें- नाबालिग को हथकड़ी लगा कोर्ट में किया पेश, जज ने भरी अदालत में सिपाही की उतरवाई वर्दी

कार्यकारी निदेशक आलोक त्रिपाठी ने बताया कार्यशाला की स्थापना के बाद से पीसीआरए ईंधनसंरक्षण में काफी लाभ मिला है। बताया कि हमने जुलाई 2017 तक के कार्यक्रम के तहत देश में लगभग एक लाख ड्राइवरों को कवर करने की बात कही।

सिन्हा ने बताया पीसीआरए के साथ साझेदारी ने मैग्मा को अब तक 1 लाख से अधिक ट्रक ड्राइवरों को योग्य ड्राइविंग सिखाने में मदद की।बिजनेस हेड संजीव झा ने बताया कि भारत में मध्यम और भारी ट्रकों के लगभग 2 लाख ड्राइवर हैं। औसतन एक ड्राइवर प्रतिमाह 10000 से 12000 किलो मीटर की दूरी तय करता है।

ये भी पढ़ें- 15 अक्टूबर को यूपीटीईटी, दिसंबर में शिक्षक भर्ती, शिक्षामित्रों को 10 हजार मानदेय

मैग्मा और पीसीआरए द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित कार्यशालाओं ने चालकों के लिए महत्वपूर्ण सामाजिक, कल्याणकारी, आर्थिक और पर्यावरणीय प्रभाव छोड़ा है जो इस प्रकार हैं...

ईंधन बचाया : लगभग 2 करोड़ लीटर।

कार्बन डाइ अक्साइड (सीओ 2) उत्सर्जन में कमी : लगभग 6 करोड़ किलो

31 जुलाई 2017 तक प्रमाणित ड्राइवर की संख्या : 1,00,699

स्वच्छता अभियान का लाभ : 5,00,000 लोगों को

कुल सक्रिय केंद्रों की संख्या : 160

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top