Top

आज का इतिहास: महात्मा गांधी ने आज ही के दिन छोड़ा था साबरमती आश्रम

आज का इतिहास: महात्मा गांधी ने आज ही के दिन छोड़ा था साबरमती आश्रमimage credit-DD news

लखनऊ। 31 जुलाई की तारीख अंग्रेजी हुकूमत से स्वतंत्रता की लड़ाई में खास महत्व रखता है। दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद महात्मा गांधी के अहमदाबाद में साबरमती नदी के किनारे अपना आश्रम बनाया था। उस दौरान साबरमती आश्रम में रहकर उन्होंने खेती, पशु पालन और खादी को लेकर कई प्रयोग भी किए। इसी आश्रम में रहकर महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता संग्राम के लिए ताना बाना बुनना शुरू किया था। गांधी जी ने अंग्रेज हुकूमत के खिलाफ कई जन आंदोलनों का नेतृत्व किया। उस दौरान साबरमती आश्रम सत्याग्रह और डांडी मार्च जैसे बड़े आंदोलनों का भी साक्षी रहा। गांधी जी ने 31 जुलाई 1933 को साबरमती आश्रम छोड़ दिया लेकिन आज भी उनकी यादों और उनसे जुड़ी वस्तुओं को साबरमती आश्रम में सहेजकर रखा गया है।

देश दुनिया के इतिहास में 16 जुलाई की तारीख पर दर्ज अन्य प्रमुख घटनाएं-

1658 : मुगल सम्राट औरंगजेब ने स्वयं को मंगोल का राजा घोषित किया

1865 : ऑस्ट्रेलिया में दक्षिण पूर्व क्लीव्सलैंड ग्रैडचेस्टर शहर में विश्व की पहली छोटी रेल लाइन शुरू।

880 : प्रसद्धि हिन्दी कहानीकार और उपन्यासकार प्रेमचंद का जन्म।

1924 : मद्रास प्रेसीडेंसी क्लब ने रेडियो प्रसारण संचालित करने का बीड़ा उठाया।

1933 : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने साबरमती आश्रम छोड़ा।

1940 : स्वतंत्रता सेनानी ऊधम सिंह का निधन।

1948 : भारत में कलकत्ता में पहली राज्य परिवहन सेवा की स्थापना।

1980 : हिंदी फिल्मों के महान पार्श्व गायक मोहम्मद रफी का निधन।

1982 : सोवियत संघ ने परमाणु परीक्षण किया।

1992 : नेपाल की राजधानी काठमांडो में थाईलैंड का विमान दुर्घटनाग्रस्त, 113 लोगों की मौत।

1993 : भारत के पहले तैरते हुए समुद्री संग्रहालय का कलकत्ता (अब कोलकाता) में उद्घाटन।

2006 : फिदेल कास्त्रो ने अपने भाई को सत्ता सौंपी थी ।

2006 : श्रीलंका में युद्ध विराम समझौता समाप्त, लिट्टे के साथ संघर्ष में 50 लोग मारे गये।

2007 : भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर सुधीर पारिख को पाल हैरिस अवार्ड प्रदान किया गया।

2010 : पाकिस्तान में बाढ़ से 900 लोगों की मौत।

ये भी पढ़ें - पश्चिमी उत्तर प्रदेश की नहरों में कम पानी से जूझ रहे हैं किसान, सांसद ने लोक सभा में उठाई आवाज

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.